भारत

कर्णाटक: कांग्रेस की याचिका पर CJI का बड़ा फ़ैसला, भाजपा को लग सकता है झटका..

नई दिल्ली: कर्णाटक चुनाव में ड्रामा कहीं से भी ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है. भाजपा बहुमत से दूर रही लेकिन राज्यपाल ने उन्हें सरकार बनाने का न्योता दे दिया और 15 दिन का समय दिया कि वो बहुमत सिद्ध कर लें. कांग्रेस और जेडीएस ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई और कांग्रेस ने चीफ़ जस्टिस ऑफ़ इंडिया का दरवाज़ा खटखटाया.

CJI देर रात कांग्रेस याचिका सुनने को तैयार हुए और अब इस मामले की सुनवाई अब से कुछ देर में 1:45 AM पर होगी.मामले की सुनवाई तीन जजों की बेंच करेगी. ये तीन जज जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस गोब्दे हैं. गौरतलब है कि सीजेआई से मुलाकात के दौरान कांग्रेस के नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के पूर्व सीजेआई सभरवाल के उस फैसले का भी हवाला दिया. 2006 के इस फैसले में कहा गया है कि ‘अगर एक राजनीतिक दल दूसरे राजनीतिक दलों या विधायकों के समर्थन के साथ सरकार बनाने का दावा करता है और राज्यपाल को स्थिर सरकार बनाने के लिए बहुमत के लिए संतुष्ट करत है तो राज्यपाल सरकार बनाने से इनकार नहीं कर सकता और बहुमत के उसके दावे को अपने इस आकलन के आधार पर खारिज नहीं कर सकता है कि वो बहुमत अवैध या अनैतिक तौर से हासिल किया गया है.ऐसा कोई भी अधिकारी राज्यपाल के पास नहीं है. ऐसा अधिकार बहुमत के राज वाले लोकतांत्रिक सिद्धांत के खिलाफ होगा.’

गौरतलब है कि बहुमत को ज़रूरी सीटों से अधिक कांग्रेस-जेडीएस लेकर आये हैं, ऐसे में कांग्रेस-जेडीएस कैंप ये उम्मीद कर रहा था कि राज्यपाल उन्हें मौक़ा देंगे लेकिन राज्यपाल ने भाजपा को सरकार बनाने का न्योता दिया. कांग्रेस-जेडीएस की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी पक्ष रखेंगे.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2017 | Bharat Duniya | Managed By Lokbharat Group

To Top