दिल्ली कांग्रेस ने राहुल गाँधी को अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर प्रस्ताव पास किया

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी में बड़े बदलाव की ख़बरों के बीच आज दिल्ली कांग्रेस ने ऐसा प्रस्ताव पारित किया है जिसे सुन कर राहुल गाँधी के समर्थक ख़ुशी से झूम रहे हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी को अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर जहाँ लगातार ख़बरें आ रही हैं वहीँ दिल्ली कांग्रेस ने एक क़दम आगे बढ़कर प्रस्ताव भी पारित कर दिया है. इस प्रस्ताव के ज़रिये राहुल गाँधी को अध्यक्ष बनाए जाने की बात कही गयी है. कांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव की प्रक्रिया अगले हफ़्ते से शुरू हो जायेगी.

दिल्ली कांग्रेस समिति ऐसी पहली समिति है जिसने राहुल को अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर प्रस्ताव पारित किया है. 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए ये बहुत एहम फ़ैसला होगा. हालाँकि सूत्रों से ये ख़बर मिली है कि दिवाली के बाद राहुल को अध्यक्ष चुना जाएगा.

इस समय उनकी माँ सोनिया गाँधी अध्यक्ष हैं. सोनिया के नेतृत्व में कांग्रेस ने शानदार कामयाबी हासिल की. 2004 और 2009 का लोकसभा चुनाव पार्टी ने उनके ही नेतृत्व में जीता. वहीँ 2014 चुनाव में हुई हार की ज़िम्मेदारी भी सोनिया के ही हिस्से में आएगी लेकिन इसको लेकर उपाध्यक्ष राहुल गाँधी की भी इस बारे में आलोचना हुई है. जानकारों के मुताबिक़ 2014 चुनाव की हार में एक वजह ये भी थी कि पार्टी में दो पॉवर सेंटर हो गए थे, एक सोनिया का और दूसरा राहुल का. सोनिया भी चाहती हैं कि राहुल गाँधी जल्दी से पार्टी कमान संभाल लें. सोनिया 1998 से पार्टी की अध्यक्ष हैं. आज़ादी की लड़ाई में एहम भूमिका निभाने वाली कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद के बतौर ये सबसे लम्बा कार्यकाल है.सोनिया ने एक ऐसे वक़्त में पार्टी का सर्वोच्च पद स्वीकार किया था जब पार्टी की स्थिति बहुत ख़राब थी. अगर राहुल अध्यक्ष चुने जाते हैं तो वो भी पार्टी के अध्यक्ष ऐसे ही एक समय में बनेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.