फिर ज़ोर पकड़ रहा है EVM गड़बड़ी का मुद्दा

एक बार फिर EVM गड़बड़ी का मामला सामने आया है. इस बार डीएम ने माना भी है कि EVM में गड़बड़ी हो गयी थी. इतना ही नहीं फिर से ये बात सामने आयी है कि बटन दबाया किसी और का और वोट गया भाजपा को. इस बारे में जहां भाजपा के नेता ख़ामोश हैं वहीँ विपक्षी दलों के नेता सवाल उठा रहे हैं कि आख़िर ऐसी कौन सी गड़बड़ी है कि जब भी गड़बड़ होती है वोट भाजपा को जाता है.

चुनाव आयोग के लगातार किये जा रहे दावों की भी इससे पोल खुल जाती है. एक तरफ़ तो चुनाव आयोग ये कोशिश कर रहा है कि ऐसा कोई क़ानून आ जाए कि लोग उस पर सवाल ना उठायें और दूसरी तरफ़ आयोग अपनी कमियों को दूर करने में विफल है.

इस ताज़ा RTI ख़ुलासे के बाद ये बात फिर उठ रही है कि आख़िर ऐसी कौन सी ज़बरदस्ती है कि EVM से ही चुनाव कराये जाएँ. एक सवाल इसमें ये भी बनता है कि VVPAT वाली EVM मशीनें कब तक तैयार होंगी और क्या उनके भी सही से काम करने की कोई सही गारंटी है. कई सारे सवालों के बीच आयोग ख़ामोशी इख्तियार करे है जबकि लगभग सभी विपक्षी पार्टियों के नेता EVM मुद्दे पर चर्चा जारी रखे हुए हैं.

जानिये क्या है मामला
महाराष्ट्र के बुलढाना ज़िला परिषद् के चुनाव में EVM गड़बड़ी को कलेक्टर ने RTI के जवाब में मान लिया है. IANS की रिपोर्ट के मुताबिक़ फरवरी में महाराष्ट्र के बुलढ़ाणा में ज़िला परिषद चुनाव में लोनार के सुल्तानपुर गांव के एक पोलिंग स्टेशन पर ईवीएम में गड़बड़ी सामने आई|

Leave a Reply

Your email address will not be published.