12% पाटीदारों का तुष्टिकरण करने में लगी भाजपा

गांधीनगर: गुजरात चुनाव जैसे जैसे नज़दीक आता जा रहा है वैसे वैसे भाजपा पाटीदारों का “तुष्टिकरण” करने में लग गयी है. राज्य की 12.3% आबादी का 2015 में शुरू हुआ आरक्षण को लेकर आन्दोलन कहीं भाजपा को महंगा न पड़ जाए. इसको लेकर अमित शाह से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक सभी कोशिश कर रहे हैं कि किसी तरह कम्युनिटी को मना लिया जाए.


इसी वजह से जब भाजपा ने “गुजरात गौरव यात्रा” शुरू की तो इसका पूरा ख़याल रखा कि पाटीदारों को ख़ुश करना है. इसी वजह से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस यात्रा की शुरुआत सरदार पटेल के घर से शुरू की लेकिन पहले ही दिन पाटीदार युवाओं ने इस यात्रा का विरोध करके भाजपा नेताओं के माथे पर शिकन ला दी है.

गुजरात की भाजपा सरकार ने पाटीदारों को मनाने के लिए मीटिंग भी की लेकिन वो भी नाकामयाब ही सिद्ध हुई. वहीँ पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भाजपा के ख़िलाफ़ खुला मोर्चा खोल रखा है जिससे ऐसा हो सकता है कि पाटीदार वोट कांग्रेस में चला जाए. हार्दिक ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी की नवसृजन यात्रा में उनका स्वागत भी किया था.

पाटीदारों को मनाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पूरी कोशिश कर रहे हैं. हालाँकि कुछ नेताओं को भाजपा एकजुट तो कर पा रही है लेकिन ये नेता कितना प्रभाव रखते हैं ये तय नहीं है.

पाटीदारों के सबसे पोपुलर नेता हार्दिक पटेल हैं जो फ़िलहाल भाजपा के विरोध में खड़े हैं. भाजपा द्वारा उन्हें मनाने की सभी कोशिशें बेकार ही गयी हैं. पर ये भी देखना होगा कि हार्दिक की बात पर वाक़ई पाटीदार समाज भाजपा के ख़िलाफ़ जाएगा.

इसी साल के अंत में गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं. 182 सीटों वाली विधानसभा में इस बार भाजपा को कांग्रेस से टक्कर मिलने की उम्मीद है जबकि कुछ छोटी पार्टियाँ भी अपनी अपनी तरह की जीत हासिल करने की कोशिश करेंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.