भाजपा के एक नेता को “जिताने” के लिए खड़े हो गए हैं 23 मुस्लिम उम्मीदवार

November 19, 2018 by No Comments

रायपुर: विधानसभा चुनाव के मतदान की तारीख नजदीक आते ही शहरभर में चुनावी दंगल चरम पर पहुंच चुका है। रायपुर दक्षिण सीट में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ने अपनी-अपनी जीत के लिए प्रचार-प्रसार तेज कर दिए हैं। भाजपा प्रत्याशी बृजमोहन अग्रवाल, कांग्रेस प्रत्याशी कन्हैया अग्रवाल अपने कार्यकर्ताओं के साथ गली-मोहल्लों में घर-घर जाकर लोगों से अपने पक्ष में मतदान करने की अपील कर रहे हैं। बता दें कि भाजपा के दिग्गज नेता बृजमोहन अग्रवाल वर्ष 1990 से अब तक कभी चुनाव नहीं हारे। पहले रायपुर फिर परिसीमन के बाद रायपुर दक्षिण सीट से भाजपा के उम्मीदवार रहे। पिछले चुनाव में इस सीट पर कुल 1 लाख 37 हजार 433 मत पड़े थे। इसमें 39 में से 22 मुस्लिम प्रत्याशी को कुल वोट 5 हज़ार 151 वोट मिले थे।

बहरहाल छत्तीसगढ़ में 72 सीटों के लिए होने जा रहे द्वितीय चरण के मतदान में रिकॉर्ड तोड़ कुल 52 मुस्लिम उम्मीदवार अलग अलग सीटों से चुनाव मैदान में हैं। लेकिन रायपुर दक्षिण की विधानसभा सीट चर्चा का विषय बनी हुई है। दरअसल, इस सीट पर 23 मुस्लिमों ने नामांकन किया है। जिसमे से भाजपा सरकार के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की इस सीट से करीब 46 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें से 23 प्रत्या​शी मुस्लिम हैं। यानी कि कुल प्रत्याशियों का 50 फीसदी मुस्लिम हैं। 

दरअसल, मुस्लिम उम्मीदवारों की संख्या ज्यादा होने के पीछे बड़े सियासती दलों की दोहरी रणनीति कार्य करती है। यहां सक्षम उम्मीदवार ही इस तरह के निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपनी तरफ से उतारते हैं। बता दें कि वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में भी रायपुर दक्षिण से 23 मुस्लिम उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था और उनमे से एक भी अपनी जमानत नहीं बचा पाया था। गौरतलब है कि रायपुर में मुस्लिम मतदाताओं का वोट रायपुर उत्तर और दक्षिण विधानसभा में बंटा हुआ है और इन्हें इतनी बड़ी संख्या में उतरने की वजह से मुस्लिम वोटों के विभाजन की संभावना बढती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *