औरंगाबाद: मीम के 9 कॉर्पोरटर को एक साथ कर दिया सस्पेंड

November 2, 2018 by No Comments

औरंगाबाद। यहाँ असदुद्दीन औवेसी की पार्टी आल इंडिया मजलिसे इत्तहादे मुसलिमीन ( आइएमआइएम ) और भारतीय जनता पार्टी ( भजपा ) के कारपोरेटर आमने सामने आ गये हैं। दरअस्ल भजपा के कारपोरेटर चाहते थे कि AIMIM के कारपोरेटर सय्यद मतीन को कारपोरेटरो की जनरल बाडी मीटिंग मे हिस्सा लेने से रोका जाए। जब भजपा के नेताऔं ने सभा मे अपनी मांग रखी तो हंगामा शुरू हो गया । आइ एम आइ एम के कारपोरेटर सय्यद मतीन के समर्थन मे आ गये। जब दोनों दलो के बीच विवाद बढ़ा तो औरंगाबाद के मैयर को दख़ल देना पड़ा।उन्होंने अपनी और से कार्यवाही करते हुए आइएमआइएम के नो कारपोरेटरो को निलंबित कर दिया ।

आप को बता दें कि औरंगाबाद नगर निगम मे बीजेपी और AIMIM के बीच विवाद नया नहीं है। इस विवाद की शुरुआत इस साल के अगस्त महीने मे हुई थी। अगस्त माह मे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हुआ था। भारत रत्न से सम्मानित अटल बिहारी वाजपेयी भाजपा के पितामाह माने जाने जाते है ।उनके और लाल कृष्ण अडवाणी के अथक प्रयासों से ही बीजेपी सत्ता तक पहुंची है। उनके निधन के बाद सारे देश मे शोक सभाएं हुई थी। इसी क्रम में औरंगाबाद टाउन हाल मे एक शौक सभा का आयोजन किया गया था।

सय्यद मतीन ने इस शौक सभा का विरोध किया था। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री की शोकसभा मे हिस्सा भी नहीं लिया था। इस पूरे घटना क्रम से बीजेपी के लोग नाराज़ हो गये थे। तभी से वह बीजेपी के निशाने पर हैं।उस समय सय्यद मतीन और उनके समर्थकों पर हमला भी हुआ था। इस हमले के पीछे बीजेपी की औरंगाबाद इकाई को माना गया था। इस हमले को Aimim ने अभिव्यक्ति की आज़ादी पर हमला बताया था। उल्लेखनीय है कि असदुद्दीन औवेसी की Aimim और बीजेपी दोनों दलों की विचारधारा परस्पर विरोधी है। इसलिए दोनों दलों मे टकराव होना एक स्वभाविक प्रक्रिया है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *