90% लोगों ने किया आज़ादी के पक्ष में वोट; स्पेन पर मंडराया बड़ा ख़तरा

मेड्रिड/बार्सिलोना: स्पेन के उत्तर-पूर्व में पड़ने वाले केटलोनिआ में कल हुए जनमत संग्रह के नतीजे आज केटलोनिआ सरकार ने जारी कर दिए हैं. सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक़ 42% लोगों ने इसमें हिस्सा लिया जिसमें से 90% लोगों ने केटलोनिआ को स्पेन से आज़ाद होने का पक्ष लिया.

विवादित जनमत संग्रह को रोकने के लिए कल भारी संख्या में स्पेन की सरकार ने पुलिस फ़ोर्स तैनात की थी. कई जगह हिंसक झड़पें हुईं जिसमें 844 लोगों के घायल हो जाने की पुष्टि की गयी है.

पुलिस ने कई पोलिंग बूथ को अपने क़ब्ज़े में ले लिया था और वहाँ जमा भीड़ को बलपूर्वक खदेड़ा.

जनमत संग्रह को स्पेन की हायर कोर्ट ने प्रतिबंधित कर दिया था और इसे असंवैधानिक बताया था. केटलोनिआ अधिकारियों ने हालाँकि इस वोट में अन्तराष्ट्रीय मानकों का ख़याल नहीं रखा था. अधिकारीयों ने किसी भी बूथ पर वोट डालने की अनुमति दे दी थी. इसको लेकर कोई ख़ास चेकिंग नहीं की गयी थी. सिर्फ़ ID दिखा कर वोट देने दिया गया है और एक रजिस्टर में पेन से एंट्री की गयी कि इस व्यक्ति ने वोट डाला. इस लिहाज़ से ये कहा जा सकता है कि अन्तराष्ट्रीय मानकों का ख़याल नहीं रखा गया है.

केटलोनिआ के लोगों ने जिस प्रकार इस जनमत-संग्रह में भाग लिया वो अपने आप में क़ाबिल ए तारीफ़ है. केटलोनिआ के क्षेत्रीय नेता चार्ल्स पुइग्देमोन्त ने कहा कि केटलोनिआ के नागरिकों ने आज़ादी का अधिकार प्राप्त कर लिया है. उन्होंने कहा कि वो इस जनमत संग्रह के नतीजों को केटलोनिआ की संसद में भेजेंगे.

स्पेन की मेड्रिड स्थित सरकार ने पुलिस द्वारा दिखायी गयी होशियारी और समझदारी की सराहना की.

केटलोनिआ की जनसँख्या 74 लाख है जो स्पेन की जनसंख्या का 16 % है. यहाँ के लोगों का अपना इतिहास, अपनी ज़बान, अपनी मान्यताएं हैं. केटलोनिआ समर्थक इसे यूरोप में एक नया देश बनाने की मांग कर रहे हैं जो सरकार के लिए बग़ावत के बराबर है. स्पेन यूरोप का चौथा सबसे बड़ा देश है और अगर स्पेन में कोई राजनीतिक परिवर्तन होता है तो पूरे यूरोप में इसका असर पड़ेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.