आरक्षण विरोधी भाजपा की सरकार में दलितों के लिए कोई जगह नहीं: मायावती

वड़ोदरा में बड़ी चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए आज बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने गुजरात विधानसभा चुनावों के लिए अभियान शुरू किया. उन्होंने कहा कि आज भाजपा दलित की बात कर रही है लेकिन आपको इनका असली चेहरा जानना चाहिए… दलितों को गुजरात में कोई जगह नहीं है.. अगर बसपा की सरकार गुजरात में आती है तो ऊना जैसी घटनाएँ कभी नहीं होंगी..दलितों को सम्मान मिलेगा.

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि दलित वोटों के लिए मोदी आंबेडकर का नाम लेकर ड्रामा करते हैं लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री रहते वड़ोदरा में आंबेडकर स्मारक नहीं बनवाया.

मायावती ने कहा कि भाजपा ने मंडल कमीशन की सिफ़ारिशों का विरोध किया और साथ ही डॉ भीम राव आंबेडकर को भारत रत्न दिए जाने का भी विरोध किया. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर भाजपा ने वीपी सिंह की सरकार भी गिरा दी.

भाजपा को आरक्षण विरोधी बताते हुए मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार जब से उत्तर प्रदेश में बनी है इसने बसपा सरकार की दलितों के लिए बनायी गयीं योजनाओं को बेकार किया है.

इस साल गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच मुख्य मुक़ाबला रहने की उम्मीद मानी जा रही है.इसके बावजूद भी बहुजन समाज पार्टी एक महत्वपूर्ण दल बन कर इन चुनावों में उभर सकता है और भाजपा का बड़ा नुक़सान हो सकता है. दलितों के मुद्दे पर घिरी भाजपा सरकार किसी भी तरह से दलितों को मनाने की कोशिश कर रही है. दूसरी तरफ़ पटेल आरक्षण की मांग को लेकर पटेल समाज के लोग भी भाजपा से नाराज़ माने जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.