“अभी हमारा पार्टी छोड़ने का कोई इरादा नहीं है लेकिन…”

पटना: बिहार कांग्रेस में चल रहे घमासान का अभी तक कोई ख़ास नतीजा शायद नहीं निकल पाया है. इसी बीच बिहार प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष पद से हटाये जाने के बाद अशोक चौधरी ने आज कहा कि पार्टी के निर्णय का वह स्वागत करते हैं लेकिन जिस तरह से हमें अपमानित करके निकाला गया हम वह डेज़र्व नहीं करते.

उन्होंने कहा,”अभी हमारा पार्टी छोड़ने का कोई इरादा नहीं है लेकिन ये भी मंज़ूर नहीं है”.

चौधरी ने कहा कि वह कमिटेड कांग्रेसी हैं, इसलिए उन्हें उम्मीद थी कि उन्हें सम्मान के साथ पार्टी पोस्ट से हटाया जाएगा.

गौरतलब है कि कल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने अशोक चौधरी को बिहार प्रदेश कांग्रेस समिति के पड़ से हटा दिया था लेकिन अभी ये पद किसी और को नहीं सौंपा गया है. इस बारे में कल कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने बताया, ‘कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अशोक चौधरी को बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से तुरंत प्रभाव से हटा दिया है.’

पिछले कुछ दिनों से बिहार कांग्रेस में टूट के आसार लगाए जा रहे हैं. पार्टी भी इसे बचाने की पूरी कोशिश में रही है. बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 27 विधायक हैं. कुछ जानकार इस बात की भी आशंका लगा रहे थे कि इनमें से कुछ विधायक जदयू से मिल सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.