दंगा भड़काने का काम वो कासगंज के वक़्त भी कर रहे थे और अंकित की हत्या के बाद भी..: अभिसार शर्मा

February 4, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में हुए अंकित सक्सेना मर्डर ने पूरे देश को हिला के रख दिया है. देश में जिस तरह से धार्मिक कट्टरता बढ़ रही है और समाज असहिष्णु हो रहा है ये घटना उसी में एक कड़ी है. अंकित एक मुस्लिम लड़की से प्यार करता था लेकिन ये बात लड़की के घर वालों को इस क़दर नागवार गुज़री कि अंकित की हत्या कर दी गयी. हालाँकि इस पूरे मामले में अंकित के घर वालों ने बहुत समझदारी और हिम्मत का परिचय दिया है और कहा है कि उनके दुःख पर किसी को राजनीति नहीं करनी चाहिए. उन्होंने मीडिया के उस सेक्शन की भी निंदा की जो इसके ज़रिये नफ़रत भड़का रहे हैं.

वरिष्ट पत्रकार अभिसार शर्मा ने भी इस मुद्दे पर अपनी राय रखी है. उन्होंने कहा,”ये काम वो कासगंज के वक़्त भी कर रहे थे. आप यानी दर्शक अपने विवेक का इस्तेमाल करें और सोचें के जो पत्रकार दंगा भड़का रहे हैं, वो हमारे परिवार के लिए कितने घातक हैं, उनकी सुरक्षा के साथ कैसा खिलवाड़ कर रहे हैं. मेरे बच्चे इनके propaganda की कीमत क्यों भोगे?”

इसके अलावा उन्होंने अंकित की वो तस्वीरें भी साझा की हैं जिसमें वो टोपी पहने हुए नज़र आ रहे हैं.उन्होंने फ़ेसबुक पर एक पोस्ट में कहा,”ये है सलीमा का अंकित. इसे मार कर जल्लाद ने इंसानियत और मोहब्बत को शर्मसार किया है. क्या अंकित से बेहतरीन मिसाल हो सकती थी भाईचारे की? ऐसे ही युवा, पत्रकार, नागरिक दो समुदाय मे अविश्वास को कम करने मे अहम किरदार निभा रहे हैं…. तुम अमर रहोगे अंकित मेरे भाई….”

मशहूर शा’इर जावेद अख़्तर ने भी इस ह्त्या की निंदा की है. उन्होंने कहा कि अंकित की ह्त्या दो युवा प्रेम करने वालों के ख़िलाफ़ भद्दे साम्प्रदायिक फ़ेस को दर्शाती है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *