अबू आसिम आज़मी ने मोदी और योगी के बारे में की विवादित टिपण्णी, आज़मगढ़ का नाम बदलने की…

November 14, 2018 by No Comments

समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र के प्रदेश अध्यक्ष अबू आजमी मुश्किल में फंसते दिख रहे हैं. आजमगढ़ में अबू आजमी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. अबू आजमी पर आरोप है कि सरायमीर में एक निजी कार्यक्रम के दौरान उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अशोभनीय टिप्पणी की. समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता अबू आसिम आजमी ने शहरों के नाम बदलने पर अपना विरोध जताया है।आजमगढ़ का नाम बदलने की बात पर अबू आसिम आजमी का कहना था कि आजमगढ़ को आजम शाह ने बसाया था योगी के बाप ने नहीं।

इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी उन्होंने “आपत्तिजनक” टिप्पणी कर डाली। मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी करने पर अबू आजमी के खिलाफ आजमगढ़ के थाना सरायमीर में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सोशल साइटों के जरिए यह बयान सार्वजनिक होने पर मंगलवार को भाजपा नेता ने सरायमीर थाने में सपा नेता के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई। अबू आजमी के विरुद्ध थाना सरायमीर पर मुकदमा अपराध संख्या 196/18 धारा 153क/503/504 भादवि दर्ज किया गया है. मामले की जांच की जा रही है.

दरअसल सोमवार को सरायमीर थाना क्षेत्र के छाऊ गांव निवासी एक व्यक्ति के यहां शादी थी जिसमें वे भाग लेने के लिए आए हुए हैं। शादी समारोह में सार्वजनिक तौर पर अबू आसिम आजमी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध अभद्र टिप्पणी करते हुए कहा कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में देश की जनता मोदी को सबक सिखा देगी। गुजरात प्रदेश के रहने वाले नरेंद्र मोदी को दोबारा गुजरात भेज देगी। सपा नेता ने प्रधानमंत्री के खिलाफ अशोभनीय शब्दों का प्रयोग किया।

यूपी सरकार द्वारा जिलों के नाम बदलने की सवाल पर अबू आजमी ने मीडिया से बात करते हुए कहा​ कि आजमगढ़ को आजम शाह ने बसाया था. योगी जी के बाप ने नहीं बसाया था. योगी को कोई अधिकार नहीं है. आजम शाह की प्रॉपर्टी मिटाने का मतलब ये होगा कि योगी फेल हैं, कोई काम नहीं कर सकते हैं. उन्होंने कहा​ कि मुझे लगता है कि योगी को सिर्फ मंदिर में बैठकर पूजा करनी चाहिए और लोगों को आर्शीवाद देनी चाहिए. अबु आसिम आजमी ने राम मंदिर मुद्दे पर कहा की मंदिर बनना चाहिए जिसमें मुसलमान भी साथ देंगे लेकिन मस्जिद को तोड़कर मंदिर बनाने की बात गलत है। उन्होंने कहा कि भगवान राम भी नहीं चाहेंगे कि मस्जिद तोड़कर मंदिर बनाया जाए, आगे कोर्ट का फैसला सर्वमान्य है। इसे सबको मानना चाहिए। राममंदिर को लेकर नए कानून और अध्यादेश लाने के मुद्दे पर अबू आसिम आजमी ने कहा कि किसी भी तरह से मंदिर मामले पर अध्यादेश नहीं लाया जा सकता। यह संविधान के खिलाफ है और इसके अलावा कोई भी गुस्ताखी होती है तो क्रिया की प्रतिक्रिया भी होगी। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *