मोदी के गढ़ में बुरी तरह हारी ABVP; काशी विद्यापीठ में सपा-NSUI की बड़ी जीत

ऐसा लग रहा है जैसे देशभर की छात्र-राजनीति में भाजपा का प्रभाव कम हो रहा है. इस वर्ष ज़्यादातर छात्र-संघ चुनावों में भाजपा की छात्र-विंग अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्(ABVP) की ज़बरदस्त हार हुई है. उत्तर प्रदेश में जहां भाजपा ने विधानसभा चुनाव में अप्रत्याशित कामयाबी हासिल की थी वहाँ भी कुछ अलग मामला नहीं रहा है. हाल ही में इलाहबाद विश्विद्यालय में ABVP ने बहुत ज़ोर लगाया लेकिन समाजवादी छात्रसभा ने शानदार जीत हासिल की. अब प्रधानमंत्री की लोकसभा सीट वाराणसी में स्थित महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ विश्विद्यालय छात्रसंघ चुनाव में भी ABVP को बड़ी हार मिली है.

यहाँ मौजूद चारों सीट ABVP को गंवानी पड़ी है. यहाँ समाजवादी पार्टी के छात्र संघठन समाजवादी छात्रसभा और कांग्रेस की NSUI ने जीत हासिल की है. सपा के राहुल दूबे ने अध्यक्ष पद पर क़ब्ज़ा जमाया है. उन्होंने इस जीत के बाद कहा कि ये 2019 लोकसभा चुनाव का आग़ाज़ है.

सपा समर्थित अनिल यादव ने महामंत्री पद को जीता है. उन्होंने ABVP की अंकिता सिंह को हराया. NSUI और सपा समर्थित रौशन कुमार ने उपाध्यक्ष पद पर क़ब्ज़ा जमाया है. पुस्तकालय मंत्री पद के चुनाव को रवि प्रताप सिंह ने जीता है. रवि प्रताप भी सपा और NSUI समर्थित थे.

इसके पहले सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हुआ.मतदान को लेकर काफी तनाव की स्थिति थी. समाजवादी पार्टी और NSUI ने चुनाव में जीत के बाद ख़ुशी मनाई. वहीँ ABVP कैंप में भारी निराशा देखने को मिली. भाजपा के छात्र संघठन और समाजवादी छात्रसभा दोनों में चुनाव को लेकर साख की लड़ाई थी. इस जीत को सपा आने वाले लोकसभा चुनाव की शुरुआत बता रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.