सर्वे में खुलासा:AIMIM इस बार रिकॉर्ड जीत दर्ज़ करेगी,तेलंगाना में जाने कितनी सीटे मिल सकती है?

September 18, 2018 by No Comments

हैदराबाद। तेलंगाना की राजधानी में अगर चले जाएँ तो वहाँ AIMIM के झंडे नज़र आने लगेंगे। लोगों से राजनीति की बात करेंगे तो लोग असदुद्दीन ओवैसी के बारे में ही अधिक बात करेंगे। पुराने शहर में ओवैसी के चाहने वाले अधिक हैं जबकि इसके अतिरिक्त भी ओवैसी के चर्चे पूरे शहर में हैं। 2019 में लोकसभा चुनाव होने को हैं लेकिन उससे पहले तेलंगाना विधानसभा के लिए चुनाव होंगे। तेलंगाना में अभी AIMIM की 7 सीटें हैं लेकिन साउथ के एक न्यूज़ पोर्टल ने एक सर्वे के परिणाम प्रकाशित किये है जिसमे AIMIM के सीटो की संख्या में बढोतरी की बात सामने आ रही है.


सर्वे के अनुसार इस बार AIMIM 9 से 11 विधानसभा सीट जीत सकती है.अगर पार्टी ऐसा करने में सफल रही तो ये AIMIM के लिए ऐतिहासिक पल रहेगा क्युकि पार्टी अब तक सिर्फ 6 या 7 तक के आसपास ही सीट जीत सकी है.हलाकि सर्वे का दावा है कि तेलंगाना में एक बार टीआरएस की सरकार बन सकती है.


सर्वे के मुताबिक टीआरएस एक बार 63 से 69 सीट जीत कर बहुमत पा सकती है.इस बार कांग्रेस सत्ता से चूकती हुई दिख रही है लेकिन पार्टी की सीटो में बढोतरी की संभवना जताई गयी है सर्वे के अनुसार,कांग्रेस तेलंगाना में 29 से 34 सीट जीत सकती है.

AIMIM और TRS में है दोस्ती

ओवैसी की पार्टी के नेताओं में इस बात का भरोसा इसलिए भी है क्योंकि केसी आर नेतृत्व वाली तेलंगाना सरकार में AIMIM ने दोस्त की भूमिका अदा की थी। ऐसे में विधानसभा में पार्टी के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने कई विशेष मुद्दे उठाए थे। ओवैसी जूनियर ने जो मुद्दे उठाए थे वो अधिकतर मुस्लिम और दलित इशू पर बेस्ड थे। ऐसे में राज्य के दलितों और मुसलमानों तक ये संदेश गया है कि AIMIM अब भाषण से आगे बढ़ने की कोशिश कर रही है।


पिछले सालों में असद उद्दीन ओवैसी की पार्टी ने अपना दायरा मज़बूती से आगे बढ़ाया है। अलग-अलग राज्यों में ये मज़बूत हुई है। महाराष्ट्र जैसे राज्य में जहाँ AIMIM को कोई पूछने वाला नहीं था, वहाँ इसने 2 सीटें जीत ली हैं। पहले ही चुनाव में ओवैसी की पार्टी का परफॉरमेंस शानदार रहा। AIMIM ने अपना दायरा उत्तर प्रदेश, बिहार, कर्नाटक और केरल तक फैला लिया है। बात लेकिन आती है कि कहीं पूरे देश में पहुँचने की कोशिश में पार्टी हैदराबाद में कमज़ोर ना पड़ जाए। इस बारे में हमने पड़ताल की।


हैदराबाद शहर में लोगों से बात की तो ये बात सामने आयी कि लोग अभी भी AIMIM पर भरोसा जताते हैं। जहाँ पूरे देश में इस पार्टी को मुसलमानों की पार्टी समझा जाता है वहीं हैदराबाद में अलग-अलग समाज के लोग ओवैसी पर भरोसा जताते हैं। यहाँ के हिन्दू भी ओवैसी को वोट करते हैं। इस वजह से ऐसा समझा जा सकता है कि ओवैसी अभी भी शहर में मज़बूत हैं, ओवैसी लगातार देश में साख बढ़ा रहे हैं। इसलिए ऐसा लगता है कि इस बार भी ओवैसी ही चुनाव में मज़बूत रहेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *