अकबरुद्दीन ओवैसी ने जनता से कहा-‘मुझे बनाओ मुख्यमंत्री, मैं दूँगा नौकरियाँ’

November 26, 2018 by No Comments

हैदराबाद। अगर हम अपने देश की प्रमुख समस्याओं की बात करें तो गरीबी और यूवाऔ मे बेरोजगारी सबसे उपर ही होगी। किसी भी देश की तरक़्क़ी सबसे अधिक यूवाऔ पर ही निर्भर होती है। ऐसे मे अगर देश के यूवा ही बेरोज़गार होंगे तो देश की तरक़्क़ी पर विपरीत प्रभाव पड़ना स्वभाविक है। वैसे बेरोज़गारी का मुद्दा हमारे राजनीति दलों को ख़ूब रास आता है ।इसलिए हर चुनाव से पहले इस पर ख़ूब चर्चा होती है। शायद नोकरी का वादा यूवाऔ को चुनाव मे रिझाने का सबसे आसान तरीक़ा है। सभी दल यह बात जानते है कि देश का युवा किसी भी राजनीतिक दल का भाग्य बदल सकता है।

बात तेलंगाना की करें तो यहाँ विधानसभा चुनाव नज़दीक आ रहे हैं । ऐसी मे राज्य सरकार का हिसाब भी होगा।उनसे सवाल भी पूछे जायेंगे। यहाँ चन्द्रयानगुट्टा निर्वाचन क्षेत्र के एमआईएम विधायक उम्मीदवार अकबरुद्दीन ओवैसी एक बार फ़िर से अपनी क़िस्मत आज़मा रहे हैं।वह पिछले चार चुनावों से चंद्रयानगुट्टा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक चुने गए हैं।बेरोज़गारी पर उनका कहना है कि उन्हें अगर तेलंगाना का मुख्यमंत्री बनाया जाए, तो वह दिखा देंगे कि नौकरियां कैसे बनाई जाती हैं और कैसे योग्य उम्मीदवारों को उपलब्ध कराई जाती हैं।

आप को बता दें कि अकबरुद्दीन औवेसी चंद्रयानंगट्टा विधानसभा चुनाव निर्वाचन क्षेत्र में एक चुनावी बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने अपनी बात का स्पष्टीकरण देते हुए आगे कहा एक विधायक के रूप में विधायक निधि के साथ नागरिक सुविधाओं की देखभाल करने के लिए उनकी तरफ से भूमिका प्रतिबंधित रहती है।इसके बावजूद भी उन्होंने नोकरियाँ दिलवायीं। उसके बाद उन्होंने वहाँ मौजुद लोगों को समझाया कि कैसे उनके द्वारा चलाए जाने वाले शैक्षिक संस्थानों और अस्पतालों में, नौकरियां प्रदान की गईं। केन्द्र सरकार और राज्य सरकार दोनों पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि लोग उनसे नौकरियों के बारे में पूछते हैं ,लेकिन यह देश के प्रधान मंत्री और राज्य के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी है कि वे बेरोज़गारों को उचित नौकरियां मुहैया कराएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *