सपा में शिवपाल को लेकर आई सबसे बड़ी खबर,मुलायम के चलते मजबूर हुयें अखिलेश,जाने मामला

November 4, 2018 by No Comments

इस समय समाजवादी पार्टी अपनी पारिवारिक कलह के वजह से टूट रही है,जहाँ अखिलेश का इस समय पूरा ध्यान मध्य प्रदेश में पार्टी को मजबूत करने में है वही उनके चाचा शिवपाल यादव सपा को नुकसान पहुचाते हुए कई सपा नेताओ को तोड़ चुके है.शिवपाल और उनके सुपुत्र आदित्य यादव भी अखिलेश यादव को कन्नौज में हराने का आह्वान कर चुके है लेकिन इन सब के बाद भी अखिलेश असहाय है.
जहाँ शिवपाल अखिलेश पर खुलके निशाना साध रहे है वही अखिलेश अभी भी चुप्पी साधे हुए है.सपा के सूत्रों के अनुसार,पार्टी मुखिया अखिलेश यादव चाचा शिवपाल को पार्टी से बाहर निकालने की सोच रहे थे और विधानसभा सदस्यता रद्द करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष आवेदन की भी सोच रहे थे लेकिन सपा संस्थापक और पिता मुलायम सिंह ने अखिलेश को ऐसा ना करने की हिदायत दे दी.
पार्टी सूत्रों के अनुसार,मुलायम सिंह यादव को अभी भी उम्मीद है शिवपाल यादव अपना इरादा बदल ले हलाकि उनको अभी तक सफलता नही मिली.वही शिवपाल लगातार अपनी पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का विस्तार करने में लगे है.शिवपाल के तेवरों से नही लग रहा है वो मानेंगे.
वही इस मुद्दे पर सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि शिवपाल यादव की सपा से सदस्यता के मुद्दे पर कोई भी फैसला राष्ट्रीय अध्यक्ष करेंगे.फिलहाल पार्टी ने विधानसभा में कार्रवाई के लिए कोई भी प्रार्थना पत्र नहीं दिया है.सपा के इस स्टैंड से समझा जा सकता है पार्टी शिवपाल पर कार्यवाई करने को लेकर बैकफुट पर है.
लेकिन अब एक बड़ा सवाल ये उठता है आखिर सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव किधर है वो कभी सपा के मीटिंग में होते है और कभी शिवपाल के मोर्चे के किसी कार्यक्रम में नजर आते है.जानकारों की माने तो नेता जी का ये स्टैंड सपा को लोकसभा चुनाव में नुकसान पहुंचा सकता है.
अखिलेश के करीबी सूत्रों के अनुसार,शिवपाल की बगावत का सपा के चुनावी संभावना पर कोई असर नही पड़ेगा क्युकि सपा और बसपा का महागठबंधन बिलकुल तय है और ये समीकरण ऐसा है जिससे ना तो शिवपाल और ना ही मोदी पार पा सकेंगे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *