जहाँ नारी की इज़्ज़त हर रोज़ दाँव पर हो और जहाँ का प्रधान, ख़ुद देश का प्रधान हो, तो नारी किससे करे शिकायत

March 5, 2018 by No Comments

उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं की सुरक्षा को एक अहम मुद्दा बताया था। सीएम योगी ने राज्य को महिला अपराध से मुक्त कराने का दावा किया था। लेकिन उनके कार्यकाल में ये तमाम दलीलें नाकाम होती नज़र आ रही हैं।

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने महिला सुरक्षा के मामले में बीजेपी सरकार पर सवाल खड़े किये हैं। अखिलेश यादव ने इस मामले में सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर ट्वीट किया है की जहाँ नारी की इज़्ज़त हर रोज़ दाँव पर हो और जहाँ का प्रधान, ख़ुद देश का प्रधान हो, तो नारी किससे करे शिकायत।

दरअसल इस ट्वीट के जरिये अखिलेश यादव ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया है। वाराणसी प्रधानमंत्री मोदी का संसदीय क्षेत्र है। पूरे उत्तर प्रदेश की बात न भी करें तो पीएम मोदी के इस इलाके में ही महिला अपराध चरम सीमा पर है। अखिलेश यादव ने अपने इस ट्वीट में अख़बार का एक स्क्रीनशॉट शेयर किया है, जिसमें बताया गया है की बीते साल वाराणसी में महिला अपराध से जुड़े 7200 मामले सामने आये हैं।
ये मामले पुलिस की लापरवाही की कारण बढ़ रहे हैं, योगी राज में पुलिस की बढ़ चुकी लापरवाही के कारण महिलायें अब पहले से ज्यादा असुरक्षित महसूस करने लगी हैं। बताया जा रहा है पुलिस की डायल 100 हेल्पलाइन पर तकरीबन 30 से ज्यादा छेड़छाड़ के मामले रोज़ दर्ज किये जा रहे हैं। लेकिन पुलिस की लापरवाही का आलम ये है की शिकायत दर्ज हो जाने के बाद भी महिलाओं की सुनवाई नहीं हो रही है, बल्कि उन्हें पुलिस स्टेशन के चक्कर लगवा कर और ज्यादा परेशान किया जा रहा है।
यहाँ तक की ये सामने आया है, पुलिस प्रभारी छेड़छाड़ और गलत टिप्पणियां करने के मामलों में शिकायत दर्ज करने से कतराते हैं। ऐसे मामलों में आरोपी बच कर निकल जाते हैं, जिससे महिलायें असहज महसूस करती है और खुद को घर में कैद कर रही हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *