‘अल-अमीन’ मिशन के छात्रों ने NEET में भी हासिल की बड़ी कामयाबी, 370 बच्चों ने परीक्षा पास की

November 18, 2018 by No Comments

देश में सामाजिक पिछड़ेपन के शिकार समुदाय की बात करें तो उसमें मुस्लिम समाज का नाम भी आता है. परन्तु पिछले कुछ सालों में मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों ने इस ओर विशेष ध्यान दिया है. एक ऐसी ही रिपोर्ट सामने आयी है जिससे हौसले में इज़ाफ़ा होता है. ख़बर आ रही है कि पश्चिम बंगाल की एक NGO अल अमीन मिशन ने मुसलमानों को देश की अलग-अलग प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद की है. एक रिपोर्ट के मुताबिक़ एनजीओ ने अब तक 2500 डॉक्टर, 4000 इंजीनियरों और 65 सिविल सरवेंट्स को अपनी मंज़िल तक पहुँचाया है.

इस संस्था ने ‘नीट’ में अविश्वसनीय उपलब्धि हासिल की. अल-अमीन मिशन के 370 छात्रों ने ‘नीट’ परीक्षा क्रैक कर ली। जिसमें 319 ने सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्राप्त किया जबकि 51 को पश्चिम बंगाल के निजी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश प्राप्त किया। इन सभी उपलब्धियों के पीछे हैं एम् नुरुल इस्लाम. इस्लाम के ही प्रयासों से NGO शानदार सफ़लता दे रहा है. अपनी सफलता का राज़ बताते हुए उन्होंने एक वेबसाइट ‘मुस्लिम मिरर’ से कहा कि वह कोलकाता में अपने कॉलेज के दिनों के दौरान रामकृष्ण मिशन से प्रेरित हुए थे।

उत्तर प्रदेश के बाद पश्चिम बंगाल में मुस्लिम शिक्षा के मामले में पीछे थे। उन्होंने ‘नीट’ क्रेक करने वाले छात्रों के बारे में बताया कि 370 ‘नीट’ क्रैकर्स में से 289 को एमबीबीएस और 81 को बीडीएस पाठ्यक्रम प्रवेश मिला इसमें 282 लड़के और 88 लड़कियां शामिल थी। बता दें कि वर्ष एम नुरुल हसन ने वर्ष 1986 में कोलकाता से 70 किलोमीटर दूर हावड़ा जिले के अपने मूल गांव खलतपुर में मदरसा भवन के अन्दर 11 छात्रों के साथ अपना संस्थान शुरू किया था। हम उम्मीद करेंगे कि नुरुल इस्लाम लगातार अच्छा काम करते रहेंगे और बच्चों को आगे बढ़ाएंगे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *