जानिए कि क्यूँ अमित शाह बना रहे हैं शिवराज से दूरी…

October 17, 2018 by No Comments

मध्य प्रदेश । पिछले पंद्रह साल से राज्य मे बीजेपी की सरकार है और पिछले लगभग बारह साल से शिवराज सिंह चोहान राज्य के मुख्यमंत्री है । एक समय बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण अडवाणी ने उनको नरेंद्र मोदी से बहतर मुख्यमंत्री बताया था। लेकिन अब लगता है अब बीजेपी का शिवराज सिंह चोहान से मोह भंग हो रहा है।

इस कयास का कारण है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के कार्यक्रमों में शिवराज की गैर मौजूदगी। उल्लेखनीय है कि अमित शाह पहले ही कह चुके हैं कि अगर इस बार राज्य मे बीजेपी की सरकार बनती है तो सीएम कोई कार्यकर्ता होगा ।तभी से राजनीतिक गलियारों मे अटकलें लगाई जाने लगी थी कि शायद मध्यप्रदेश से शिवराज सरकार का दौर ख़त्म होने वाला है।

इन अटकलों को और बल मिला है हाल ही में सम्पन्न बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के मध्यप्रदेश के दो दिवसीय कार्यक्रम से। आप को बता दें कि इस दौरान अमित शाह ने शिवराज सिंह के साथ कोइ मंच साझा नहीं किया। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश की राजनीति में यह पहला अवसर था जब अमित शाह के किसी कार्यक्रम मे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उपस्थित न रहे हो।

अमित शाह भोपाल और होशंगाबाद के कार्यकर्ताओं सम्मेलन में उपस्थित रहे जबकि रीवा, सतना और जबलपुर में उन्होंने जन सभाएं की ।मगर दिलचस्प बात यह रही कि इन कार्यक्रमों के मंच पर शाह के साथ मुख्यमंत्री शिवराज नजर नहीं आए। ऐसे मे सवाल तो उठेंगे ही कि आखिर अमित शाह के कार्यक्रमों से शिवराज को दूर रखने का क्या कारण हो सकता है। क्या यह कोइ रणनीति है ।

जानकारो के मुताबिक इस बार मध्यप्रदेश मे बीजेपी की राह आसान नहीं है। इसलिए इस बार चुनाव की कमान अमित शाह के हाथ मे ही रहेगी। राजनीतिक विश्लेषक शिव अनुराग पटैरिया का कहना है कि बीजेपी विकेंद्रीकरण की नीति पर चल रही है इसके तहत कैलाश विजयवर्गीय को मालवा की जवाबदारी और प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह को महाकौशल का जिम्मेदारी दी जा रही है। साफ तौर पर देखा जा सकता है कि इस बार बीजेपी शिव राज सिंह चोहान के सहारे चुनाव मे जाने के लिए तैयार नहीं है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *