दादी के दे'हांत के दूसरे ही दिन ग़रीबों में कंबल बाँटते दिखे अब्बास अंसारी,लोग बोले-इसीलिए तो मसीहा माना जाता है

December 30, 2018 by No Comments

मऊ विधायक मुख़्तार अंसारी की माँ का इं’तिकाल की ख़बरें आप सबने सुनी होगी जिससे विधायक मुख़्तार अंसारी का समूचा परिवार सदमे में है लेकिन आज उस समय लोगों की आँखें तब और भर आयीं जब मुख़्तार अंसारी के बड़े बेटे और बसपा के क़द्दावर युवा नेता अब्बास अंसारी फाटक स्थिति घर पर हज़ारों की संख्या में पहुँचे ग़रीबों को कंबल बाँटते दिखे।
अब्बास अंसारी ने इस भीषण ठंड को देखते हुए आज कई गरीब परिवारों की महिलाओं को कंबल भेंट किये.इस दौरान हजारों महिलाओं को कंबल दिए गये ताकि उनके बच्चे और परिजन और खुद भी इस भीषण ठंड में ठिठुरने से बचें.

उनके कंबल वितरण के बाद हर गरीब माँ बहन बेटियाँ नम आँखों से उनको आशीर्वाद देती नज़र आयीं उनकी झोली में हर ख़ुशी देखना चाहती थी. अब्बास अभी अपनी दादी माँ को मिटटी देकर बैठे भी न थे कि कितने लोंगों को उनकी लगी आस के अनुसार बुलाकर यह कार्य सबसे पहले किया. अब्बास अंसारी के इस नेक कार्य की खूब प्रसंशा की जा रही है।

यूँ तो अंसारी परिवार बरसों से अपने सामाजिक कामों के लिए जाने जाते हैं लेकिन एक दिन पहले घर की मुखिया का देहांत हुआ हो और दूसरे ही दिन ग़रीबों के प्रति ये समर्पण देख लोगों की आँखें गर्व से नम हो गयीं और लोगों की ज़ुबान पर दुआओं के साथ साथ यही शब्द थे की ‘इसीलिए तो हम ग़रीबों का मसीहा कहते हैं’
गौरतलब है कि जुमे के रोज़ देर रात में बाहुबली विधायक मुख़्तार अंसारी की माँ का निधन हो गया था लेकिन अचरज की बात ये रही कि शनिवार और रविवार को अवकाश होने की वज़ह से मुख्तार अंसारी अपनी माँ के दफन में शरीक नही हो सके.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *