ओवैसी के ऑफर के बाद भी ‘अंसारी परिवार’ उठाने जा रहा है ऐसा कदम,सपा में..

पूर्वी यूपी के बा’हुब’ली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के बड़े भाई सिबगतुल्लाह ने समाजवादी पार्टी ज्वाइन कर ली है जबकि बसपा से मौजूदा विधयाक मुख़्अतार अंसारी को पार्टी ने अलग करके उनकी ज़गह राजभर को टिकट देने का एलान कर दिया है.इस बीच ओवैसी की पार्टी ने मुख्तार अंसारी को टिकट देने की पेशकश की है इस बीच मुख्तार अंसारी परिवार सपा में अपनी गोटिया फिट करने का जोर लगा रहा है.


कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही मुख्तार के बेटे अब्बास अंसारी भी सपा में एंट्री ले सकते हैं.अंसारी की आपरा’धिक छवि को देखते हुए सपा में उनकी एंट्री संभव नहीं लगती, लेकिन मुख्तार के बेटे अब्बास को पार्टी में शामिल किया जा सकता है ऐसे में राजनीति क चर्चाएं तेज हो गई हैं.

खराब छवि के व्यक्ति को नहीं किया जाएगा शामिल

सपा प्रवक्ता विवेक साइलस का कहना है कि समाजवादी पार्टी किसी गुं’डे या ख राब छवि के व्यक्ति को पार्टी में शामिल नहीं होने देगी.उन्होंने कहा कि मुख्तार अंसारी पर केसेस हैं, लेकिन अगर किसी का पिता डॉ’न हो तो जरूर नहीं है कि बेटा भी वैसा ही निकले।


अब्बास अंसारी को पार्टी में शामिल करना है या नहीं, यह फैसला सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कोर कमेटी करेगी.बता दे मुख्तार अंसारी कई बार सपा के सहयोग से विधायक बन चुके है .

विपक्ष हुआ हमला;’वर

अब्बास अंसारी के सपा में अटकलों के बीच विप क्ष ने सपा पर निशाना साधा है। भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा है कि एक समय था जब अखिलेश यादव अपनी क्लीन छवि के लिए मुख्तार अंसारी परिवार के सपा में शामिल होने पर अपने चाचा शिवपाल यादव से चर्चा कर बैठे थे।


लेकिन दो चुनावों से पार्टी को हार मिल रही है और इसका नतीजा ये है कि सपा को अपने ही फैसले पर यू टर्न लेना पड़ा रहा है। अब खुद ही अखिलेश ने मुख्तार परिवार के सदस्यों को सपा की सदस्यता दिलाई है और बेटे अब्बास अंसारी की भी सपा में एंट्री के कयास लगाए जा रहे हैं.


भाजपा नेता ने कहा..कितने वर्षों का राजनीतिक जीवन, समाज के लिए क्या किया, परिवार आदि की दीजिए जानकारी, खूबियां गिनाइए मिलेगा बसपा का टिकट.

Leave a Reply

Your email address will not be published.