अपर्णा ने आरएसएस के सुर में सुर मिलाया,अयोध्या मामले पर विवादित टिप्पड़ी,मचा बवाल

November 1, 2018 by No Comments

बाराबंकी: समाजवादी पार्टी परिवार में अंदरूनी मतभेद लगातार बाहर आने लगे हैं. शिवपाल यादव ने अपनी एक अलग पार्टी बना ली है और उन्हें ठीक ठाक समर्थन भी हासिल हो रहा है. अब इस बीच मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने एक ऐसा बयान दिया है जो समाजवादी पार्टी की लाइन से अलग माना जा रहा है. अयोध्या विवाद पर अपनी राय रखते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें भी राम मंदिर बनने का इंतज़ार है. हालांकि उन्होंने कहा कि अदालत के फ़ैसले के सम्मान के साथ ही ये होना चाहिए. उन्होंने कहा कि सभी को जनवरी में सुनवाई का इंतज़ार करना चाहिए.

जब उनसे ये पूछा गया कि क्या मस्जिद नहीं बनना चाहिए, इस पर अपर्णा यादव ने कहा,”मैं तो मंदिर के पक्ष में हूँ क्योंकि रामायण में भी राम जन्मभूमि का उल्लेख आता है.” जब उनसे पूछा गया कि क्या आप बीजेपी के साथ हैं तो अपर्णा ने कहा, “मैं राम के साथ हूं.”अपर्णा ने इस बात को स्वीकार किया कि सपा की 2017 विधानसभा चुनाव में हार का मुख्य कारण परिवार के अंदर चल रहे मतभेद थे. वो आगे कहती हैं कि सपा परिवार में अगर मतभेद रहते हैं तो आने वाले लोकसभा चुनाव में स्थिति अलग नहीं होगी.

बाराबंकी के देवा शरीफ़ पहुँची अपर्णा यादव ने कहा कि चाचा शिवपाल यादव ने भी सपा को खड़ा करने में महनत की है. जब उनसे पूछा गया कि वो किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगी चाचा शिवपाल की पार्टी से या सपा. तो उन्होंने कहा कि वो शिवपाल चाचा की पार्टी से चुनाव लड़ना चाहेंगी. हालाँकि अपर्णा ने ये भी कहा कि वो बड़ों के साथ ही रहना चाहेंगी. उन्होंने मुलायम सिंह यादव का भी नाम लिया.

ग़ौरतलब है कि अखिलेश यादव के नेतृत्व से नाराज़ एक गुट ने समाजवादी पार्टी से अलग होकर नया दल बनाया है. इसमें अधिकतर सपा के पूर्व नेता हैं. अखिलेश यादव के समर्थक इसे भाजपा की बी टीम कह रहे हैं जबकि शिवपाल समर्थकों का कहना है कि भाजपा से असली लड़ाई वो ही लड़ने वाले हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *