आतं'की हम'ले को लेकर भि ड़े तुर्की और न्यूजीलैंड,एर्दोगान ने ये बयान देकर मचा दी हलचल

March 22, 2019 by No Comments

हाल ही में न्यू’जीलैंड के 2 मस्जि-दों पर हुए आ’तंकी हमें 50 लोग मा-रे गए.जिसके बाद दुनियाभर में द’हशत का माहौल बना हुआ है।इस मामले में अब न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिका एरडेर्न ने तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान की टिप्पणी पर क’ड़ा रुख अपनाया है।दरअसल तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान ने सख्त प्रतिक्रिया जाहिर की थी,उनके ब्यान को कई जानकार तुर्की में हो रहे लोकल बॉडी के इलेक्श’न से भी जोड़ के देख रहे है।
एर्दोगान ने स्थानीय चुनावों के प्रचार के दौरान कहा था कि अगर न्यू-जीलैंड सरकार इस हमले के आरो’पियों को स’जा नहीं दे सकती तो तुर्की इस मामले में कड़ी कार्र’वाई करते हुए उन ह’मलावरों को सजा दे सकता है।आपको बता दें कि तुर्की के राष्ट्रपति ने यह चेतावनी जारी की थी कि उनके द्वारा विरोधी ऑस्ट्रेलियन लोगों को ताबूत में रखकर वापस लौटा दिया जाएगा।जिस तरह से ऑस्ट्रेलियाई लोगों के पूर्वजों को पहले वर्ल्ड वा’र के दौरान गालीपोली की लड़ाई में भेजा गया था।

जेसिंडा एरडेर्न


बता दे की गालीपोली में तुर्की की सेना के साथ लड़ाई के दौरान ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के तकरीबन 10000 सैनिक मा’रे गए थे।क्रा’इस्टचर्च में मस्जिदों पर हम’ला करने वाले और ह’मलावर ने खुद को श्वेत आस्ट्रेलियाई बताया है और इस सारे ह’मले का वीडियो फेसबुक लाइव के जरिए प्रसारित किया गया था।
इस वीडियो में ह’मलावर ने इस ह’मले को मुस्लिम लोगों के खिलाफ आ’क्रमण करार दिया है।इस दौरान ह’मलावर ने तुर्की और तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान पर भी निशाना साधा था।वहीँ इस हम’लावर को कड़ी सजा देने के लिए तुर्की ने भी न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री को कड़ा रुख दिखाया है।तुर्की के राष्ट्रपति ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि वे 16,500 किलोमीटर दूर बैठकर हमारे सब्र की परीक्षा ले रहे हैं।

एर्दोगान


उन्होंने कहाकि मस्जिदों पर किया गया ये ह’मला किसी एक व्यक्ति द्वारा नहीं किया गया है।बल्कि संगठित अ’पराध है।न्यूजीलैंड को इस मानववि’रोधी कृत्य के लिए ह’मलावर कड़ी स’जा देनी चाहिए।अगर न्यूजीलैंड ऐसा करने में असमर्थ हैं तो हम जानते हैं कि कैसे हमे स’ज़ा देनी है।इस मामले में न्यज़ीलैंड की प्रधानमंत्री ने कहा है कि उनके विदेश मंत्री विंस्टन पीटर्स अपनी तुर्की यात्रा के दौरान राष्ट्रपति एर्दोगान द्वारा की गई टिप्पणी पर उनका स्पष्टीकरण लेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *