आज़म खान ने बताया-क्यों हारे से लोकसभा चुनाव?….कांग्रेस पर जो कहा उससे बवाल मचना तय

March 19, 2019 by No Comments

लोक सभा चुनाव के चलते उत्तर प्रदेश में हुए सपा बसपा गठबंधन ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने से परहेज किया है। भले ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की दो परंपरागत सीटों को पार्टी के लिए छोड़ दिया है।वहीँ कांग्रेस ने बीते दिनों घोषणा करते हुए कहा था कि पार्टी यूपी में सपा,बसपा और आरएलडी गठबंधन के खिलाफ सात सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी।
इस मामले में सपा के कद्दावर नेता आजम खान ने कांग्रेस को नसीहत दी है।आजम खान ने कहा है कि कांग्रेस यूपी में बहादुरी मजबूती से लड़ें। बल्कि यह कहें कि रायबरेली और अमेठी में भी हमें सपा की इनायत नहीं चाहिए। हम प्रदेश में अपने दम पर सीना ठोक कर लडे़ंगे और उसी तरह लड़ेंगे। जैसे हमने मध्यप्रदेश और राजस्थान में विधानसभा चुनाव लड़े हैं।

आज़म खान


जहाँ उन्होंने किसी को एडजस्ट नहीं किया।न एक सीट सपा को दी न ही एक सीट बसपा को दी।उत्तर प्रदेश में भी उन्होंने बीजेपी और गठबंधन की चुनौती को स्वीकार करना चाहिए।गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री आजम खान अपने बयानों के चलते हमेशा सुखियों में बने रहते हैं।कांग्रेस को नसीहत देने के साथ सपा नेता ने बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी पर भी निशाना साधा है।
पीएम मोदी के ”मैं हूं चौकीदार” वाली मुहिम पर चुटकी लेते हुए आजम खान ने कहा है कि इस तरह के जुमलों और नारों से इस बार के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की बात नहीं बनने वाली।पीएम मोदी को यह बताना होगा कि देश की जनता के साथ साल 2014 में किए गए वादे पूरे हुए या नहीं हुए 10 करोड लोगों को नए रोजगार मिले या नहीं मिले।हर शख्स के अकाउंट में 15 लाख रुपए क्यों नहीं आए।

आज़म खान


नोट बंदी से क्या फायदा हुआ और जीएसटी के जरिए व्यापारियों को लाभ मिला कि नहीं मिला?आजम खान ने इस दौरान आरबीआई के डायरेक्टर पर भी नि’शाना साधा उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को यह जवाब देना होगा कि आरबीआई के डायरेक्टर ने इस्तीफा क्यों दिया और नोटबंदी को बिना सोचे समझे लागू क्यों किया गया। आज कल लोगों को चौकीदार देखकर रखना चाहिए।चौकीदार ठीक ना हो तो उसे बदल देना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *