अजहर अली ने इस कारण की वजह से वनडे क्रिकेट से दिया इस्तीफ़ा

November 2, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व कप्तान अजहर अली ने टेस्ट करियर पर ध्यान देने के लिए वनडे क्रिकेट को अलविदा कह दिया है. उन्होंने गुरुवार (1 नवंबर) को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की. 33 साल के अजहर ने 53 वनडे मैच खेले. उन्होंने इन मैचों में 36.90 की औसत से 1845 रन बनाए. इनमें तीन शतक और 12 अर्धशतक शामिल हैं. अजहर ने अपना आखिरी वनडे मैच इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। पिछले साल चैंपियंस ट्रॉफी में उन्होंने शानदार प्रदर्शन करके पाकिस्तान टीम की खिताबी जीत में अहम भूमिका निभाई थी। उस टूर्नामेंट में उन्होंने 45 से ज्यादा की औसत से 228 रन बनाए थे। वह फखर जमां के बाद पाकिस्तान की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे।

33 वर्ष के अज़हर अली ने कहा, ‘मैंने यह फैसला अचानक नहीं लिया है. मैं इस बारे में काफी दिनों से सोच रहा था. यह टेस्ट पर ध्यान देने का सही समय है. पाकिस्तान के पास वनडे के कई शानदार खिलाड़ी हैं. जहां तक टेस्ट क्रिकेट की बात है तो मैं अब भी टीम का हिस्सा हूं. उम्मीद है कि आगे भी इस टीम का हिस्सा बना रहूंगा.’ अजहर पाकिस्तान की वनडे टीम के नियमित सदस्य नहीं थे. वह लंबे समय से टीम से बाहर चल रहे थे. उन्होंने अपना आखिरी वनडे इसी साल जनवरी में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था. इस सीरीज के बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. वह कभी भी पाकिस्तान की टी-20 टीम में शामिल नहीं हो सके.

अजहर पाकिस्तान टीम की कप्तानी भी कर चुके हैं. अजहर ने मिस्बाह उल हक के जाने के बाद पाकिस्तान की कमान संभाली। हालांकि इस दौरान ना तो उनका प्रदर्शन अच्छा रहा और ना ही टीम का। उनकी कप्तानी में पाकिस्तान ने 12 मैच जीते और 18 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इस दौरान पाकिस्तान की टीम वनडे इतिहास में अपनी सबसे खराब रैंकिंग पर भी पहुंच गई थी। पूर्व कप्तान ने कहा, ‘एक पूर्व कप्तान के तौर पर मैं टीम को आने वाले अहम सीजन के लिए शुभकामनाएं देता हूं. आगे विश्व कप भी है. मैं पूरी तरह से सरफराज अहमद का समर्थन करता हूं. वह टीम का अच्छे से नेतृत्व कर रहे हैं.’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *