बच्चों की मौत को लेकर शिवसेना ने योगी सरकार को घेरा

मुंबई/लखनऊ: उत्तर प्रदेश में ख़राब स्वास्थ व्यवस्था को लेकर शिवसेना ने योगी सरकार पर निशाना साधा है. सामना में छपे लेख में कहा गया है कि गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज और फ़र्रुखाबाद के अस्पताल में मरने वाले बच्चे ग़रीब परिवारों के थे. इसमें कहा गया है है कि ये सरकारी अस्पताल यमराज की तरह हो गए हैं.

शिवसेना के मुखपत्र में कहा गया है कि स्वास्थ को लेकर गंभीर अवस्था में सरकारी अस्पताल ही ग़रीबों का सहारा होते हैं, अगर इन अस्पतालों में इस तरह की लापरवाही हो रही है तो ज़रुरतमंद कैसे जियेंगे?

पार्टी ने हाल ही में हुईं मौतों को लेकर योगी सरकार को ज़िम्मेदार माना है.

गौरतलब है कि गोरखपुर के BRD अस्पताल में लगातार बच्चों की मौत का सिलसिला बना हुआ है जबकि फ़र्रुखाबाद में ऑक्सीजन की कमी से 49 बच्चों की मौत की ख़बर आने से हडकंप मचा हुआ है. विपक्ष सरकार से सवाल उठा रहा है कि आख़िर योगी सरकार स्वास्थ सेवायें देने में क्यूँ नाकाम है. विपक्ष के कई नेताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का इस्तीफ़ा भी माँगा है.

जहां एक तरफ़ सरकार सुविधाएं देने में नाकाम है वहीँ इसके मंत्री इसको लेकर बहाने बनाने की मुद्रा में हैं. कभी कोई मंत्री कहता है कि अगस्त में बच्चे मरते हैं तो कभी कोई कहता है कि लोग चाहते हैं कि 2 साल के बाद बच्चों को सरकार पाले.

इन सभी बहानों-बातों की वजह से जहां लोग तो नाराज़ ही हैं, विपक्ष और केंद्र में भाजपा की सहयोगी पार्टियां भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से नाराज़ हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.