बड़ा खुलासा-भारत और पाक के बीच तना'व कम करने में इस अरब देशो ने निभाई बड़ी भूमिका

March 1, 2019 by No Comments

आ’तंकी संगठन जैश ए मोहम्मद द्वारा जम्मू कश्मीर के पुलवामा में किए गए आ’तंकी ह’मले और भारतीय वायु सेना द्वारा पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में की गई एयर स्ट्राइक के बाद दोनों देशों में पैदा हुए त’नाव को कम करने के लिए दुनिया भर के सभी देश जुटे हुए हैं।बताया जा रहा है कि दोनों देश इस मामले में बातचीत करने को राजी हो गए हैं।
14 फरवरी की घटना के बाद से पाकिस्तान भारत के साथ त’नाव को कम करने के लिए बैठक और बातचीत एकमात्र तरीका बताया था।अब खबर सामने आ रही है कि अबू धाबी के युवराज मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने भारत और पाकिस्तान के बीच पैदा हुए त’नाव को कम करने की अपनी कोशिशों के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से फोन पर बात की है।


इमरान खान- नरेंद्र मोदी


बता दें कि अबू धाबी के युवराज जायद अल नाहयान यूएई सशस्त्र बलों के डिप्टी सुप्रीम कमांडर भी हैं।इस मामले में आबू धाबी के युवराज ज़ायद अल नाहयान ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर ट्वीट कर कहा है कि उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से बातचीत की है।
पाकिस्तान में मौजूद आतंकी संगठन संगठन जैश ए मोहम्मद के एक हमले में 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत और पाक के बीच त’नाव बढ़ गया है। इसके बाद भारतीय वायु सेना ने पहला कोर्ट में स्थित जैश ए मोहम्मद कई प्रशिक्षण शिविर हवाई ह’मलों से उड़ा डाले हैं।जिसके बाद पाकिस्तान ने भी जवाबी कार्रवाई की है।

अबू-धाबी के प्रिंस


भारत-पाकिस्तान के बीच बढ़ रहे इस त’नाव को देखते हुए अबू धाबी के युवराज ज़ायद अल नाहयान ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा है कि दोनों देशों की स्थिति को देखते हुए उन्होंने भारतीय पीएम मोदी और पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के साथ फोन पर बात की है। वहीँ इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) की बैठक होने वाली है।जिसकी मेजबानी आबू धाबी द्वारा की जाने वाली है।जिसमें भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को विशेष अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया है।आपको बता दें कि पाकिस्तान में भारतीय विदेश मंत्री के इस बैठक में शामिल होने पर ऐतराज जताया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *