बेवफा औरतों में होते है ये पांच लक्षण , चाणक्य ने कहा – ऐसी महिला ..

आचार्य चाणक्य ने मानव समाज के कल्याण से संबंधित कई बातें बताई हैं.आप को बता दें कि चाणक्य का नाम दुनिया के महान विद्वानों में गिना जाता है.इनकी नीतियां आज के समय में भी कारगर साबित होती हैं.चाणक्य नीति में स्त्रियों के बारे में भी विस्तार से बताया गया है.आइये हम आप को उन में कुछ बताते हैं.आचार्य चाणक्य ने बताया है कि जो महिला धर्म के रास्ते पर चलती है उसके पति का जीवन सफल और सुखमय हो जाता है.जो महिला ऐसा करती है, उसे कभी कोई परेशानी नहीं होती है, और वह अपने पति के साथ में एक सफल जिंदगी गुजारती है.

क्योंकि यह महिला बहुत अच्छी होती हैं, और इन्हें होशियार भी बहुत माना जाता है.ऐसी महिलायें दुसरे के लिए भी हमेशा फायदा ही सोचती हैं,यह कभी किसी को नुकसान पहुंचाने की बात नहीं करती हैं।चाणक्य ने दूसरा गुण बताया है संतोष. चाणक्य कहते हैं कि जिस महिला में संतोष की भावना होती है और जिसकी इच्छाएं सीमित होती हैं, उसका जीवन खुशियों से भरा रहता हैऐसी महिला के पति को भाग्यशाली माना जाता है.और यह महिलायें बहुत चालाक भी होती हैं.

चाणक्य के मुताबिक एक अच्छी पत्नी का तीसरा गुण है धैर्य. जो स्त्री हर परिस्थिति का सामना धैर्य से कर सकती है उसका पति भाग्यशाली होता है. धैर्य सुखी जीवन का सबसे बड़ा कारक होता है.अगर धैर्य है तो हर परिस्थिति का सामना इंसान आसानी से कर सकता है.

जो महिला धैर्य रखती है, उस का कोई काम नहीं बिगड़ता है, और हमेशा खुशहाल जिंदगी गुजारती है, वहीँ उसका पति भी हमेशा खुश रहता है.आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो महिला शांत स्वभाव की होती है और अधिक गुस्सा नहीं करती उसका पति भी भाग्यशाली होता है.

क्योंकि क्रोध में इंसान को कुछ ऐसा करने या कहने पर मजबूर कर देता है जिससे की बाद में उसे पछताना पड़े.इस लिए गुस्से को सब से बड़ा दुश्मन माना गया है. और कभी भी गुस्सा नहीं करना चाहिए. हमेशा शांत रहना चाहिए.

चाणक्य नीति के अनुसार जिस स्त्री की वाणी में मिठास होती है उसका पति किस्मत वाला होता है.महिला हमेशा अपनी मीठी बोली से सभी को अपना बनाए रखती है,और जो महिला तेज़ बोली की होती हैं, उन से सब लोग दूर भागते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.