सावधान: चुनाव आ रहे हैं तो दंगे करवाये जा सकते हैं!

February 11, 2018 by No Comments

किसी दल का नाम लेने की ज़रूरत ना मुझे है और ना ही इस बात को समझने के लिए आप ही को ज़रूरत है कि मैं नाम लूँ। लोकसभा चुनाव में अब एक साल से कुछ अधिक ही वक़्त बचा है और चुनावी तैयारियाँ बिल्कुल शुरू के दौर में हैं। राजनीतिक दल लगातार गठबंधन बनाने और बिगाड़ने की स्थिति में आ गए हैं और प्रचार के लिए योजनाएं बननी शुरू हो गयी हैं। हालांकि ये बातें तो ऐसी हैं कि राजनीति में होती ही हैं लेकिन पिछले कई सालों में ये देखा गया है कि जैसे ही चुनाव नज़दीक आते हैं, भड़काऊ भाषणबाज़ी शुरू हो जाती है। कट्टरता से लबरेज़ भाषण दिए जाते हैं, धार्मिक गालियाँ दी जाती हैं, झूठा प्रचार सोशल मीडिया के ज़रिए किया जाता है, हिन्दू और मुसलमान में झगड़ा कराया जाता है।

अब सवाल ये है कि हम कब तक इस फेर में आते रहेंगे, कब तक हम इन घटिया लोगों की बातों में आएंगे। दुनिया में कोई भी ऐसा मज़हब नहीं जो किसी को मारने की सीख दी लेकिन ये कौन हैं जो ख़ुद को एक धर्म का ठेकेदार मान कर दूसरे धर्म के लोगों को जान से मारने की बात कर रहे हैं।असल में जनता को ख़ुद भी ये समझने की ज़रुरत है कि कोई भी धर्म हो सबसे पहली बात मानवता है. अगर आप मानवीय हैं तभी आप अपने धर्म के सही अनुयायी होंगे. कोई हिन्दू अगर मुसलमान को मारता है या कोई मुसलमान किसी हिन्दू को मारता है तो इसमें मरने वाला इंसान ही होता है.

हमें ये समझने की ज़रुरत है कि नफ़रत की राजनीति करके विधायक और सांसद बनने वाले लोगों को पहचाने और इनको आगे कभी कामयाब ना होने दें. इन्हें पहचानना कोई बड़ी बात नहीं है, सोशल मीडिया पर हों या सामने..इनके व्यवहार से आपको मालूम चल जाएगा कि इनके पास नफ़रत के सिवा कुछ नहीं है.

~
अरग़वान रब्बही
ईमेल: arghwanbharat@gmail.com

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *