भागलपुर घोटाले में आये कई भाजपा नेताओं के नाम, नीतीश कुमार चुप ! लालू ने की सीबीआई जांच की मांग

पटना: बिहार के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला बन कर उभरा “सृजन” घोटाला बिहार की राजनीति को एक बार फिर हिलाने का काम कर रहा है| इस घोटाले में अब भाजपा के नेताओं के नाम सामने आ रहे हैं| गिरिराज सिंह और शाहनवाज़ हुसैन जैसे नेताओं के साथ सृजन संस्था की संस्थापक मनोरमा देवी (जिनकी इस साल फरवरी में मृत्यु हो गयी)की फ़ोटो वायरल हो गयी है|

इस मामले में रोज़ नया ख़ुलासा हो रहा है, रोज़ रक़म बढ़ रही है लेकिन सरकार ये बताने को तैयार नहीं है कि कितनी रकम बैंकों में गयी और कितनी वापिस आई| इसके इलावा कितनी रकम और सृजन के पास है| कहा जा रहा है कि बैंक ऑफ़ बड़ोदा, और इंडियन बैंक के अधिकारियों की भी गिरफ़्तारी की जा सकती है|

दूसरी ओर राजद सुप्रीमो लालू यादव ने इसमें सीबीआई जांच की मांग की है| तमाम हंगामे के बीच 7 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस पर कुछ भी बोलना ठीक नहीं समझा है| वो कुछ भी बोलने से परहेज़ कर रहे हैं| इस मामले में नीतीश की चुप्पी से कई सवाल उठ रहे हैं|

2005 से जारी इस घोटाले में सरकारी पैसे को ब्याज पर चलाया जा रहा था| मामले की जानकारी तब लगी जब सृजन संस्था (जिसके नाम पर पैसा लिया जा रहा था) की कर्ताधर्ता एक महिला की मृत्यु हो गयी और पेमेंट में दिक्क़तें आयीं| ये घोटाला शुरू में 560 करोड़ बताया जा रहा था लेकिन अब अनुमान आगे बढ़ गया है| राजद नेता मनोज झा ने इसे बिहार के समस्त घोटालों का पितामह कहा|

Leave a Reply

Your email address will not be published.