इमरान का हिन्दू समुदाय के लिए बड़ा फैसला…अब नए का’नून के लागू होते ही मौलवियों को..

September 16, 2021 by No Comments

पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान धर्म परि वर्तन के खिलाफ बेहद सख्त बिल लाने जा रहे हैं। इस बिल का ड्राफ्ट तैयार किया जा रहा है। लेकिन, जो जानकारियां पाकिस्तानी पत्रकारों के हवाले से सामने आई हैं, उससे पता चला है कि इमरान खान का ये बिल काफी ज्यादा स ख्त है। इस बिल का ड्राफ्ट अभी तैयार किया जा रहा है और इसे पाकिस्तान के कुछ वरिष्ठ मंत्रियों और मौलानाओं के पास भेजा गया है।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान में इस बिल के कुछ प्वाइंट्स, जो अब तक सार्वजनिक हुए हैं, उसे लेकर पूरे पाकिस्तान में बवं’डर मच गया है और लोग इमरान खान को का-फिर कह रहे हैं।

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट है कि इमरान खान से धर्म परिटवर्तन के खिलाफ बेहद स ख्त बि’ल बनाने को मंजूरी मिलने के बाद धा र्मिक मंत्रालय इस बिल का ड्राफ्ट तैयार कर रहा है। जिसमें काफी सख्त प्वांइट्स डाले गये हैं।

पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक, ज बरन धर्मांत रण विरो धी विधेयक के मसौदे पर चर्चा के लिए धार्मि क मामलों के मंत्रालय द्वारा बुलाई गई बैठक में भाग लेने वाले मौलवियों और धार्मिक विद्वानों ने विधेयक पर गं भीर आ पत्ति जताई है और मंत्रालय को चेताव नी दी कि इसे अपने वर्तमान स्वरूप में लागू नहीं किया जा सकता है।

हालांकि, इस बैठक में पाकिस्तान के राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग (एनसीएम) के सदस्यों या इसके अध्यक्ष चेला राम को आमंत्रित नहीं किया गया था। NCM के एकमात्र मुस्लिम सदस्य, मुफ्ती गुलज़ार नईमी को एक स्थानीय मौलवी के रूप में आमंत्रित किया गया था।

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, फिलहाल जो जानकारियां सामने आईं हैं, उसके मुताबिक इस बिल में धर्म परिवर्तन के खिला फ काफी कड़े प्रावधान किए गये हैं। बताया जा रहा है कि इस बिल में कहा गया है कि किसी भी शख्स का ध र्म परिव र्तन उसकी मर्जी के बाद भी 18 साल की उम्र से पहले नहीं किया जा सकता है।

ये प्वाइंट अपने आप में काफी स ख्त है। क्योंकि, पाकिस्तान के बारे में ऐसी खबरे आती है कि नाबा लिग बच्चियों को कम उम्र में अ’गवा कर उसे ज बरदस्ती किसी मौलवी या किसी मुस्लिम शख्स से शादी करवा दी जाती है और उसका धर्म परि वर्तन कर दिया जाता है।

हलाकि कई मामलो में प्रेम विवाह का मामला भी साबित होता रहा है मगर इमरान खान के बिल में ये प्वाइंट है, तो इसे ऐतिहासिक कहा जा सकता है और इस प्वाइंट का असर पूरी तरह से दिखने की संभावना जताई जा रही है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *