बिहार: अररिया में बीजेपी को कांटे की टक्कर दे रही आरजेडी, जहानाबाद में भी मिल रही बढ़त

March 14, 2018 by No Comments

बिहार में एक लोकसभा और दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए आज नतीजे घोषित होने वाले हैं। इन सीटों पर वोटों की गिनती शुरू हो गयी है। बिहार के नतीजे सीधे-सीधे NDA और राजद के लिए प्रतिष्ठा का सवाल हैं। जदयू के फिर से NDA में शामिल होने के बाद राज्य का यह पहला उपचुनाव है।

बिहार की अररिया लोकसभा सीट पर आरजेडी उम्मीदवार को 1,95,527 वोट मिले हैं, जबकि बीजेपी को 1,95,072 वोट मिले हैं। इस हिसाब से आरजेडी के सरफराज आलम 455 वोटों के मामूली अंतर से आगे चल रहे हैं। आरजेडी को जहानाबाद में अच्छी बढ़त मिली है। जहानाबाद में आरजेडी प्रत्याशी कुमार कृष्ण 4725 वोट से आगे चल रहे हैं। भभुआ विधानसभा सीट से बीजेपी के दिवंगत विधायक आनंद भूषण पांडेय की पत्नी और बीजेपी उम्मीदवार रिंकी रानी आगे हैं।

बिहार में सत्तारूढ बीजेपी-जेडीयू गठबंधन तथा विपक्षी राजद-कांग्रेस गठबंधन अररिया लोकसभा सीटों पर और दो विधानसभा क्षेत्र में आमने सामने हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पिछले साल महागठबंधन तोड़ कर बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए में शामिल होने के बाद प्रदेश में पहली बार मतदान हुए हैं। अररिया लोकसभा सीट पर आरजेडी के सरफराज आलम और भारतीय जनता पार्टी के प्रदीप कुमार सिंह के बीच सीधा मुकाबला है। जहानाबाद में आरजेडी के सुदय यादव और जेडीयू के अभिराम शर्मा के बीच मुकाबला है।

बिहार की अररिया लोकसभा सीट से आरजेडी सांसद रहे मोहम्मद तस्लीमुद्दीन, जहानाबाद विधानसभा से आरजेडी विधायक मुंद्रिका सिंह यादव और भभुआ विधानसभा से बीजेपी विधायक आनंद भूषण पांडेय के निधन के बाद उपचुनाव हो रहे हैं। इन तीन सीटों में से दो पर आरजेडी का कब्जा था, जबकि एक सीट पर बीजेपी का कब्जा है। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पिछले साल महागठबंधन तोड़ कर बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए में शामिल होने के बाद प्रदेश में पहली बार मतदान हुए हैं। वहीँ आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के जेल में जाने के बाद आरजेडी की राजनीतिक जिम्मेदारी संभाल रहे पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के लिए राजनीतिक परीक्षा माना जा रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *