बिहार में भी हुआ पत्रकार पर हमला; दिनदहाड़े गोली मारी, पत्रकार घायल

बिहार: देश में मौजूद दक्षिणपंथी हिंदूवादी संगठनों और राजनीतिक दलों के खिलाफ खुलकर विचार जाहिर करने वाली वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड मामला अभी शांत हुआ नहीं की, बिहार से एक और पत्रकार की मौत का मामला सामने आ गया है।

आज बिहार के अरवल जिले में पंकज मिश्रा नाम के एक पत्रकार को अज्ञात बदमाशों ने दिन-दिहाड़े गोली मार दी। पंकज मिश्रा राष्ट्रीय सहारा अखबार के लिए काम करता है।

रिपोर्ट के मुताबिक, वंसी के सोनभद्र मठिया गांव के पास की यह घटना है।इस घटना के बाद घायल पत्रकार को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है, जहां उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

इस घटना पर अरवल जिले के एसपी दिलीप कुमार के बताया है कि पंकज मिश्रा पर हमला उस वक्त हुआ, जब वह बैंक से एक लाख रुपए कैश लेकर निकल रहे थे। तभी मोटरसाइकिल पर सवार होकर दो हमलावर वहां पहुंचे और उन्होंने पंकश मिश्रा को गोली मार दी।

बताया जा रहा है कि ये हमलावर उन्ही के गाँव से है। गोली मारने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी ने साथ ही मामले को आपसी दुश्मनी करार दिया है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी बिहार में पिछले साल सिवान में पत्रकार राजदेव रंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस मामले में शहाबुद्दीन के गुर्गे लड्डन मियां को आरोपी बनाया गया था।राजदेव रंजन की भी मोटरसाइकिल सवारों ने गोली मारकर हत्या की गई थी।

हाल ही में कन्नड़ की वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की कुछ बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। गौरी लंकेश कन्नड़ भाषा की एक साप्ताहिक मैगज़ीन निकालती थीं। जिसमें वह हिंदुत्व की राजनीतिक, सांप्रदायिकता का विरोध करती थीं।वह अक्सर पीएम मोदी और बीजेपी पर भी वह निशाना साधती थीं। गौरी ने अपने आखिरी लेख में भी फेक न्यूज को लेकर पीएम मोदी, उनके बीजेपी मंत्री, उनके नेता और आरएसएस पर निशाना साधा था। गौरी ने कहा था कि फेक न्यूज के जरिए आरएसएस और भाजपा के लोग झूठ फैला रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.