भाजपा और कांग्रेस दोनों दलित विरोधी हैं: मायावती

November 27, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: 5 राज्यो में हो रहे विधानसभा चुनावों में जमकर सियासी हमले हो रहे है ।बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने भी कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधते हुए यह कहा की कि भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलित विरोधी हैं और वे आरक्षण प्रणाली को खत्म करने की फिराक में हैं। जयपुर के आमेर विधानसभा में एक चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंची मायावती का कहना था कि बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के प्रयासों से आरक्षण लागू हुआ लेकिन अब ये दोनों पार्टिंया इसके खिलाफ जा रही हैं।

बसपा सुप्रीमो ने बीजेपी और कांग्रेस पार्टी पर तीखा हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों केशासनकाल में दलितों और अल्‍पसंख्‍यकों की हालत बहुत खराब हुई है। साथ ही सरकार प्राइवेट सेक्‍टर में जॉब देने के लिए काम कर रही है जहां आरक्षण का कोई लाभ नहीं है।’ नौकरियों में आरक्षण को कमजोर किया। उन्‍होंने जनता से अपील की कि विधानसभा चुनाव में बीएसपी को वोट देकर जनता दोनों पार्टियों को सबक सिखाए। 

मायावती ने कहा कि बसपा ने राजस्थान में अपने टिकटों का बंटवारा सर्वसमाज के अनुपात में किया है। देश में आजादी के बाद केंद्र व राज्यों में विभिन्न पार्टियों की सरकारें रहीं लेकिन दलित, आदिवासी, पिछड़े, मुस्लिम व धार्मिक अल्पसंख्यकों व किसानों का खास उद्धार नहीं हो सका। मायावती ने कहा कि कांग्रेस और भाजपा पूंजीपतियों से चुनावी चंदा लेती है। सत्ता में आने पर उनके काम करते हैं, लेकिन बसपा पूंजीपतियों के प्रभाव से बचने के लिए इनसे चंद नहीं लेगी, मात्र कार्यकर्ताओं से ही आर्थिक मदद लेती है।

उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस के साथ बसपा के गठबंधन की चर्चा हुई थी, लेकिन वे हमें कम सीटें देकर कमजोर करना चाहते थे,इसलिए हमारी पार्टी अकेले चुनाव लड़ रही है। मायावती के कांग्रेस पर इस हमले से यह साफ हो गया है कि कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेंगी लोकसभा चुनाव के लिए महागठबंधन बनाने की योजना पर पानी फिर सकता है। वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए अलग-अलग राज्यों में क्षेत्रीय पार्टियों के साथ बसपा, कांग्रेस के साथ गठबंधन की बात चल रही थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *