भाजपा के साथ गठबंधन में रहना है या नहीं, ये जल्द पता चलेगा: शिवसेना

September 18, 2017 by No Comments

मुंबई: महाराष्ट्र में भाजपा की सहयोगी शिव सेना ने संकेत दिए हैं कि वो जल्द ही महाराष्ट्र सरकार से अलग हो सकती है. शिवसेना के नेता संजय राउत ने बताया कि बेतहाशा बढ़ती महँगाई और किसानों के मुद्दे को ना सुलझाना.. हम इनके लिए ज़िम्मेदार नहीं हैं और हम नहीं चाहते कि इसका आरोप हमारे ऊपर आये.

राउत ने कहा कि हम सरकार में रहेंगे या नहीं ये कुछ वक़्त में तय कर लिया जाएगा.

महाराष्ट्र की 288 सीटों वाली विधानसभा में शिवसेना के 63 विधायक हैं. अगर शिवसेना समर्थन वापिस ले लेती है तो भाजपा के पास 122 सीटें हैं और भाजपा सरकार अल्पमत में आ जायेगी.हालाँकि भाजपा को उम्मीद है कि नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी का समर्थन उसे मिल जाएगा और वो सरकार बचाने में कामयाब हो जायेगी.

मौजूदा हालात को देखते हुए वैसे पक्के तौर पर कह देना कि भाजपा और एनसीपी का गठबंधन होगा थोड़ा मुश्किल है. उसकी वजह है 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव. एनसीपी जो कि अपने को लगातार सेक्युलर पार्टी कहती आयी है वो 2019 के चुनाव में भाजपा के साथ गठबंधन करके चुनाव नहीं लड़ना चाहेगी.

एक और वजह ये भी है कि अगर एनसीपी भाजपा के साथ जाती है तो उसके अन्दर फूट पड़ सकती है.

एक नज़र में, कुछ और ख़बरें..
1. मेरठ रैली में आज मायावती ने सपा-कांग्रेस से गठबंधन के संकेत दिए. उन्होंने कहा कि पहले सीटों का समझौता हो जाए तो गठबंधन हो जाएगा.

2. लखनऊ में मशहूर बुज़ुर्ग शा’इर तश्ना आलमी का इंतिक़ाल हो गया.

3. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निकाय चुनाव से पहले शहरों की सफ़ाई की बात की है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *