गुजरात चुनाव: मंदिर जाना राहुल गांधी के लिए सिर्फ एक चुनावी कर्म है: भूपेंद्र यादव

गांधीनगर: गुजरात में चल रहे चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस भले ही बीजेपी पर हावी हो रही हो। लेकिन बीजेपी भी कांग्रेस पर हमलावर हो रही है। बीजेपी की गुजरात इकाई के राष्ट्रीय महासचिव और बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव ने राहुल गांधी के गुजरात दौरे पर निशाना साधा है। उन्होंने इस मामले में सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर कुछ ट्वीट्स किए हैं।

हर देशवासी के लिए मंदिर और धार्मिक स्थल जाना एक स्वाभाविक धर्म है, वहीं राहुल गांधी जी के लिए मंदिर जाना सिर्फ एक चुनावी कर्म है। दुनिया भर को आकर्षित करने वाले दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर में राहुल गांधी कभी नहीं गए, क्योंकि उस मंदिर से उनको वोट नहीं मिलने वाला। देश के लोग उनकी इस बात को अब बखूबी समझ गए हैं।
राहुल गांधी के गुजरात में विकास के नारे पर पलटवार करते हुए उन्होंने कांग्रेस पर सवाल उठाये हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी बेरोजगारी की बात कर रहे हैं तो गुजरात की जनता को ये बताएं कि उनके खुद के संसदीय क्षेत्र अमेठी से जो 13,672 लोग रोजगार के लिए गुजरात आयें हैं, उनको अमेठी में रोजगार क्यों नहीं मिला ?
राहुल गाँधी जी विकास का जो ज्ञान देकर गए हैं हमारा उनसे आग्रह है कि गुजरात के 5 साल के शासन और अशोक गहलोत के 5 साल के शासन के तुलनात्मक आंकड़े पेश करें। अगर गहलोत जी उनके प्रवंधन कार्य मे व्यस्त हैं तो वो महाराष्ट्र मे कांग्रेस के कार्यकाल के तुलनात्मक आंकड़े प्रस्तुत करें। कांग्रेस चुनाव अभियान में पूरी तरह से जनता से जुड़ने में फेल रही है। हर 15 दिन में उनके मुद्दे बदल जाते हैं। अब हालात ये है कि राहुल गाँधी ने यूथ कांग्रेस का काम अल्पेश व हार्दिक को और मुद्दे तलाशने का काम सैम पित्रोदा को सौंप कर खुद वापस दिल्ली चले गए हैं। राहुल गाँधी GST पर बहुत बोलते हैं। भई अगर वो इतना ही ज्ञान रखते हैं तो उन्होंने लोकसभा में GST पर अपनी बातें क्यों नहीं रखी ? कांग्रेस पार्टी से हमारा आग्रह है कि राहुल जी के अर्थशास्त्र के ज्ञान व संसद में दिए गए उनके भाषण की एक पुस्तिका छपवा कर गुजरात की जनता में जरूर बांटे।

गौरतलब है कि 9 दिसंबर से 18 दिसंबर के बीच गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इस बार का चुनाव बहुत ही दिलचस्प होने वाला है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.