‘मोदी सरकार’ पर बरसे भाजपा नेता-‘J&K में हो रहा है लोकतंत्र से खिलवाड़’

November 23, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: लंबे समय से पार्टी से नाराज चल रहे भारतीय जनता पार्टी (BJP) सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने विपक्षी दलों का मंच साझा करने को लेकर कहा है कि ‘फ्रेन्ड ऑफ ऑल पॉलिटिकल पार्टी’ के नाते वे दूसरी पार्टियों का मंच साझा कर रहे हैं. उन्होंने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा है कि देश में आज ऐसा माहौल पैदा किया जा रहा है कि जो आपकी पार्टी में नहीं है, वो या तो एंटी-नेशनल है या फिर आपका दुश्मन है. उत्तर प्रदेश में एक कार्यक्रम के दौरान सिन्हा ने कहा है कि मैं दोस्त के नाते और फ्रेन्ड ऑफ सोसाइटी के नाते जनता की आवाज उठा रहा हूं.

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने जम्मू कश्मीर विधानसभा भंग किए जाने को लोकतंत्र से खिलवाड़ बताते हुए बृहस्पतिवार को यहां कहा कि कश्मीर में जो हुआ है वह नहीं होना चाहिए था। वह यहां आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह और अपना दल की नेता कृष्णा पटेल के साथ संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राजग के दोबारा सत्तासीन होने की संभावना पर सिन्हा ने कहा, मैं ज्योतिषी नहीं हूं, लेकिन मैं पूरे देश में घूमता रहा हूं और अपने अनुभव के आधार पर मैं कह सकता हूं कि बहुत कठिन है डगर पनघट की।’ भाजपा सांसद सिन्हा ने राम मंदिर के मुद्दे पर कहा, मेरे लिए राम मंदिर का मुद्दा सही मायनों में ‘ऑफिस ऑफ प्रॉफिट’ का मुद्दा है या हितों के टकराव का मुद्दा है।

उन्होंने कहा कि लोग जानना चाहते हैं कि छुट्टी के दिन जब फैक्स तक रिसीव नहीं हो सका, उस दिन विधानसभा भंग करने का आदेश कैसे दे दिया गया। सिन्हा ने कहा कि कश्मीर में जिस तरह लोकतंत्र से खिलवाड़ हुआ है, उसका असर काफी दूर तक देखने को मिलेगा। अगर कई पार्टियों के लोग साथ मिलकर जनता की भावनाओं का सम्मान करते हुए सरकार बनाना चाहते थे तो उन्हें मौका मिलना चाहिए था, लेकिन विधानसभा भंग होने से यह साफ हो गया कि इस तरह का फैसला मिलीभगत की वजह से ही हुआ है। राम मंदिर के मुद्दे पर उनका कहना था कि पहले मानव मंदिर बनना चाहिए। मानव मंदिर का मतलब लोगों को रोजगार मिले, किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य मिले। देश में अमन और चैन हो। शत्रुघ्न सिन्हा ने 2019 में भी चुनाव लडऩे की बात दोहराई। कहा कि अगर पार्टी उन्हें निष्कासित करती है तो उनके लिए विकल्प खुले हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *