वसुंधरा के गढ़ में भी भाजपा प्रत्याशी को झेलना पड़ रहा है विरोध, ग्रामीणों ने भगाया

November 24, 2018 by No Comments

राजस्थान: भाजपा के खानपुर विधानसभा से प्रत्याशी नरेंद्र नागर गोविंदपुरा गांव जनसंर्पक के लिए पहुंचे थे. लेकिन ग्रामीणों ने नेता जी के काफिले को गांव से आधा किलोमीटर पहले ही रोक दिया. इस दौरान भाजपा पदाधिकारियों ने गांव के लोगों को समझाने की कोशिश की. लेकिन ग्रामीण नहीं माने और भाजपा प्रत्याशी को गांव में घुसने नही दिया. इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं की ग्रामीणों से रास्ता नहीं देने के मामले में जमकर बहस हुई. जिसके बाद ग्रामीणों ने साफ-साफ कह दिया कि रोड़ नहीं तो वोट नहीं. जिसके चलते गांव के बहार से भाजपा प्रत्याशी नरेंद्र नागर को वापस लौटना पड़ा.

दरअसल झालावाड़ मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का गढ़ माना जाता है। झालावाड़ के खानपुर विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी नरेंद्र नागर गोविंदपुरा गांव में जनसंर्पक के लिए पहुंचे थे लेकिन यहां गांव वालों ने उनके काफिले को गांव से आधा किलोमीटर पहले ही रोक दिया। भाजपा पदाधिकारियों के लाख समझाने के बाद भी लोगों ने नेता जी को गांव के अंदर दाखिल नहीं होने दिया। ग्रामीण गांव में रोड़ की समस्या से नाराज थे। ग्रामीणों कहना था कि रोड़ नहीं तो वोट नहीं।बताते है कि गोविंदपुरा गांव में सड़क का काम अधूरा पड़ा हुआ है इसलिए ग्रामीणों में विधायक के खिलाफ आक्रोश है।

ग्रामीणों ने नरेंद्र नागर पर इस गांव की उपेक्षा का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का आरोप है कि नरेंद्र नागर गांव में सड़क भी नहीं बनवा सके है, इसलिए उनको यहां आकर वोट मांगने का कोई अधिकार नही है। राजस्थान में बीजेपी को मात देकर सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस ने सारे दांव चल दिए हैं. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया को उनके घर में ही घेरने के लिए सबसे बड़ा दांव चलते हुए कांग्रेस ने बीजेपी के पूर्व वरिष्ठ नेता और अटल सरकार में मंत्री रहे जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह को झालरापाटन से उतारा है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *