9 बच्चों को कुचल कर नेपाल भागने की कोशिश में भाजपा नेता?

February 27, 2018 by No Comments

कहने को बिहार एक ऐसा राज्य है जहाँ शराब नहीं पी जा सकती, कहने का मतलब है कि यहाँ सरकार ने शराब पीने पर पाबंदी लगा रखी है लेकिन राजधानी से सटे हुए मुज़फ्फ़रपुर में सत्ताधारी गठबंधन के भाजपा नेता ने नशे में धुत होकर मासूम बच्चों को कुचल दिया. इस घटना में कम से कम 9 बच्चों के मारे जाने की ख़बर है लेकिन अभी तक बिहार पुलिस भाजपा नेता (अब पूर्व भाजपा नेता) मनोज बैठा को गिरफ़्तार नहीं कर पायी है.

बैठा पर बच्चों को कुचलने का इलज़ाम है, अब ये ख़बर आ रही है कि बैठा देश छोड़ कर भागने की फ़िराक़ में है. पुलिस सूत्रों से पता चला है कि बैठा इस वक़्त भारत-नेपाल सीमा के आसपास है.वो यहाँ छुप कर बैठा है लेकिन पुलिस दावा कर रही है कि वो बैठा को 48 घंटे के अन्दर गिरफ़्तार कर लेगी.एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान मुज़फ्फ़रपुर के एसएसपी विवेक कुमार ने कहा कि भाजपा नेता को 48 घंटे के भीतर गिरफ़्तार कर लिया जाएगा.

भाजपा ने मनोज बैठा को पार्टी से निकाल दिया है. भाजपा नेता सुशील मोदी ने साफ़ किया है कि जो भी इस घटना में क़सूरवार होगा उसे क़ानून का सामना करना पड़ेगा फिर उसका ओहदा या वो किस पार्टी से जुड़ा है इसका कोई मतलब नहीं है.इस मामले में मनोज बैठा के पिता ने कहा है कि उनके बेटे पर लगाए जा रहे आरोप ग़लत हैं. उनके पिता नारायण बैठा ने कहा कि घटना वाले दिन कार उनका ड्राईवर कार लेकर गया था और उन्हें तो ये भी नहीं पता कि ड्राईवर कार कहाँ लेकर गया और उसके बाद क्या हुआ.

इस मामले में विपक्ष ने भी सरकार को पूरी तरह से घेरा हुआ है. राजद नेता तेजश्वी यादव ने कहा,”राष्ट्रीय मीडिया के लिए नीतीश कुमार और सुशील मोदी के बेहद करीबी हत्यारे भाजपाई नेता द्वारा 10 स्कूली बच्चों को कुचल कर मारने की घटना अतिसामान्य है क्योंकि मरने वाले बच्चे बेहद गरीब और सरकारी स्कूल में पढ़ते थे। अगर वो अमीरों के बच्चें होते तो यह प्राइम टाइम का गर्म विमर्श होता।”. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने इस मामले में ट्वीट कर नीतीश सरकार को घेरा.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *