हिमाचल में भाजपा को बड़ा झटका; शांता कुमार के क़रीबी ने की बग़ावत

पालमपुर. हिमाचल प्रदेश में चुनाव का दिन जैसे जैसे नज़दीक आ रहा है पार्टियों में गुटबाज़ी की ख़बरें भी तेज़ हो रही हैं. पिछले दिनों कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों के कई बड़े नेताओं के बारे में बग़ावत की ख़बरें आई हैं. अब ख़बर ये है कि भाजपा के वरिष्ट नेता शांता कुमार के बेहद क़रीबी प्रवीण शर्मा को पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाया है. हालाँकि पार्टी के पास कोई और चारा भी नहीं था क्यूंकि प्रवीण ने भाजपा का टिकट ना मिलने पर बतौर आज़ाद उमीदवार पर्चा दाख़िल कर दिया है.

असल में प्रवीण पालमपुर से टिकट चाहते थे लेकिन पार्टी ने प्रत्याशी बनाया इंदु गोस्वामी को. अपना टिकट कटने पर उन्होंने बग़ावत शुरू कर दी और पार्टी के उमीदवार के ख़िलाफ़ ही मैदान में उतर गए. उन्हें पार्टी ने मनाने की बहुत कोशिशें कीं लेकिन वो किसी हालत में मानने को तैयार नहीं हुए. आख़िर भाजपा ने उन्हें 6 साल के लिए निष्काषित कर दिया. उनके अलावा 6 क़रीबियों को भी पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया.

इस बारे में पार्टी के नेता सतपाल सत्ती कहते हैं कि पार्टी के उमीदवार के ख़िलाफ़ चुनाव में उतरने के कारण इनकी प्राथमिक सदस्यता 6 वर्ष के लिए ख़त्म की गयी है. प्रवीण शर्मा के अलावा ह्रदय राम, ललित ठाकुर, बलदेव ठाकुर, बीके चौहान, हंस राज धीमान और डीके सोनी की सदस्यता भी ख़त्म की गयी है.

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश में अगले माह की 9 तारीख़ को चुनाव होना है. 68 सीट वाली हिमाचल प्रदेश विधानसभा में इस बार भी मामला टक्कर का माना जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.