भाज'पा ने पहली लिस्ट में 4 मुस्लिम को दिए टिकट,जाने किसे कहां से मिला टि'कट

March 22, 2019 by No Comments

राजनीतिक पार्टियों के साथ-साथ देश की जनता के लिए भी अगला महीना काफी महत्वपूर्ण है.क्योंकि देश की जनता को गहरे चिंतन के बाद अपना वोट देना है.आखिर केंद्र की सत्ता का भविष्य जनता ही तय करेगी.लोकसभा चुनाव जीतने का तो हर राजनीतिक दल दावा कर रहा है.इस कड़ी में हर दिन राजनीतिक गलियारों में नए सियासी समीकरण देखने को मिल रहे हैं.
केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए अपने 184 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी.जिसमें प्रमुख उम्मीदवारों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उत्तर प्रदेश की वाराणसी सीट से और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह गांधीनगर से चुनाव लड़ेंगे.माना जा रहा था कि बीजेपी अपनी हिं’दूवादी छवि को कायम रखने और इसे आगे बढ़ाने के लिए लोकसभा चुनाव में किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को लोकसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं देगी.लेकिन बीजेपी ने इस बार अलग ही दांव चल दिया है.

बीजेपी


अपनी पहली लिस्ट में पार्टी ने पहली लिस्ट में 184 सांसदों के नाम घोषित किए गए.इस लिस्ट में 4 मुस्लिम उम्मीदवारों को जगह दी गई है.यह 4 मुस्लिम उम्मीदवार उत्तर प्रदेश,महाराष्ट्र की जगह के नहीं बल्कि जम्मू-कश्मीर और लक्ष्यदीप से है,दरअसल इन क्षेत्रों में मुस्लिम मतदाता बड़ी तादाद में हैं जोकि लोकसभा चुनाव में मुख्य भूमिका निभाते हैं.
आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने बारामुला से एमएम वार को,श्रीनगर से खालिद जहांगीर को और अनंतनाग सीट से सोफी यूसफ को टिकट मिला है.लक्ष्यदीप से अब्दुल खादिर बीजेपी की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे.गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी से देश के मुसलमान काफी नाराज चल रहे हैं.


राजनाथ सिंह- नरेंद्र मोदी


इसी वजह से पार्टी का मुस्लिम जनाधार कम हो गया है.जिसके चलते बीजेपी ने देश के इन राज्यों में मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट देकर अल्पसंख्यकों को अपने पाले में लेने की कोशिश की है.आपको बता दें कि बीजेपी की इस सूची में बड़े नाम भी शामिल हैं.गृह मंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ से,विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह गाजियबाद से,केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह को बागपत से,केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को अमेठी से टिकट दिया गया है.वहीँ पार्टी ने कद्दावर नेता शाहनवाज़ हुसैन की टिकट काट दी है.शाहनवाज़ हुसैन बिहार की भागलपुर सीट से टिकट मिलने की उम्मीद लगाकर बैठे थे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *