बीजेपी ने 39 उम्मीदवारों की लिस्ट ज़ारी की,मेनका और वरुण गाँधी की सीटो में बड़ा बदलाव,देखे सूची

March 26, 2019 by No Comments

चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी ने अपने 39 और उम्मीदवारों का नाम घोषित कर दिया है,BJP ने अधिकतर उम्मीदवार यूपी की सीटो पर घोषित किये है अधिकांश सीटो पर पुराने चेहरे पर ही भाजपा ने दावं लगाया है लेकिन सूची में एक चौकाने वाली बात ये है कि मेनका और वरुण गांधी की सीटो में बड़ा बदलाव किया गया है.वरुण इस बार पीलीभीत एवं माँ मेनका सुल्तानपुर से चुनाव मैदान में उतरेगी
यह है कि बीजेपी ने कानुपर से वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का टिकट काट दिया है.इससे पहले बीजेपी ने गांधीनगर से वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी का टिकट भी काट दिया है.गुजरात के गांधीनगर से इस बार बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ेंगे.अमित शाह फिलहाल राज्यसभा सांसद भी हैं.


बीजेपी ने इस बार कानपुर ने सत्यदेव पचौरी को टिकट दिया है.इनके अलावा पार्टी ने इलाहाबाद से रीता बहुगुणा जोशी,बाराबंकी से उपेंद्र रावत, बहराइच से अक्षयवर गौड़,केसरगंज से बृजभूषण शरण सिंह,डुमरियागंज से जगदंबिका पाल और गाजीपुर से मनोज सिन्हा को अपना उम्मीदवार बनाया है.
कांग्रेस की लिस्ट ज़ारी-कांग्रेस न तीन और प्रत्याशी घोषित किये है ख़ास बात ये है कि समाजवादी पार्टी के गढ़ रामपुर से संजय कपूर को टिकट दिया गया जबकि गुजरात की नवसारी सीट से धर्मेश पटेल को टिकट दिया गया है.कच्छ से नरेश महेश्वरी को मैंदान में उतारा गया है.


सपा ने भी तीन उम्मीदवार घोषित किये-समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में एटा,पीलीभीत,फैजाबाद लोकसभा से अपने प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए हैं.इसमें एटा से देवेन्द्र यादव,पीलीभीत से हेमराज वर्मा जो कि पूर्व राज्यमंत्री रह चुके हैं और फैजाबाद से आनंदसेन यादव को प्रत्याशी बनाया है.आनंदसेन यादव पूर्व सांसद मित्रसेन यादव के पुत्र हैं और वे मिल्कीपुर से पूर्व विधायक भी रह चुके हैं.

इससे पहले समाजवादी पार्टी ने आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीट के लिए प्रत्याशियों का एलान किया था.आजमगढ़ से इस बार अखिलेश यादव खुद चुनाव मैदान में उतरें हैं,वहीं रामपुर से आजम खां को प्रत्याशी बनाया गया है.बता दें कि फिलहाल आजमगढ़ से मुलायम सिंह सांसद हैं.सपा ने रविवार को पहले चरण के चुनाव प्रचार के लिए 40 स्टार प्रचारकों की लिस्ट भी जारी की थी.हालांकि, उस लिस्ट में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का नाम नहीं था लेकिन उसी शाम को जारी हुई लिस्ट में मुलायम के नाम को जगह दी गई थी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *