बीजेपी के गढ़ में बजा कांग्रेस का डंका,शानदार जीत से कांग्रेस में जश्न

September 18, 2018 by No Comments

धर्मशाला: 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में हिमाचल प्रदेश की जनता ने भाजपा को वोट दिया। कांग्रेस को यहां हार का सामना करना पड़ा। तब से ही हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस इस कोशिश में है कि वो भाजपा को पटखनी दे लेकिन ऐसा मौक़ा कांग्रेस के पास नहीं आ रहा था। इस बार वो मौक़ा कांग्रेस को मिल गया है। जिला परिषद उपाध्यक्ष पद कांग्रेसी उम्मीदवार ने जीत लिया है।

हिमाचल प्रदेश में जयराम ठाकुर के शासनकाल के 9 महीने में बीजेपी को पहली बार हार का सामना करना पड़ा है। जयराम कैबिनेट में कांगड़ा के चार मंत्री होने के बाद भी भाजपा को यहां हार का सामना करना पड़ा है। बीजेपी यहाँ जिला परिषद उपाध्यक्ष का चुनाव हार गई है। वह भी कम अंतर से नहीं बल्कि 15 वोटों से हारी है।

जानकारी के लिए बता दें कि आज धर्मशाला में कांगड़ा जिला परिषद के उपाध्यक्ष के लिए चुनाव हुए। इसमें कांग्रेस की तरफ से विशाल चंबियाल और बीजेपी की तरफ से शेर सिंह चुनावी मैदान में थे।विशाल चंबियाल वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव भी हैं और इंदौरा के रहने वाले हैं। बरंडा वार्ड से जिला परिषद सदस्य हैं। वहीं शेर सिंह उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह के विधानसभा क्षेत्र से हैं और बिक्रम सिंह के ही वार्ड से जिला परिषद सदस्य हैं। साथ ही जसवा परागपुर बीजेपी मंडल के महामंत्री है। विशाल चंबियाल ने जिला परिषद उपाध्यक्ष के चुनाव में शेर सिंह को 15 मतों से मात दी।

विशाल चंबियाल को 35 और शेर सिंह को महज़ 20 वोट मिले। भाजपा के लिए अब ये सोचने का विषय है कि ऐसा क्यों हुआ। लोकसभा चुनाव में अब बहुत समय नहीं है ऐसे में भाजपा के लिए अब मंथन का समय है। प्रदेश का सबसे बड़ा जिला होने के नाते कांगड़ा हमेशा ही राजनीतिक पार्टियों का केंद्र बिंदू रहा है। लोकसभा चुनाव में भी कांगड़ा जिला अहम भूमिका निभाता है। हार जीत का फैसला काफी हद तक कांगड़ा से ही होता है। बीजेपी की यह हार सही मायनों में बीजेपी के गलियारों में चिंता का विषय है। साथ ही कांग्रेस के लिए राहत भरी खबर है। वर्तमान में जिला परिषद अध्यक्ष मधु बाला पालमपुर मारंडा से हैं और बीजेपी समर्थित हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *