किताब का दावा- दुनिया के सबसे ताक़तवर मुस्लिम नेता हैं एरदोगन…

October 25, 2018 by No Comments

तुर्की राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान को विश्व के 500 सबसे प्रभावशाली मुसलमानों के 2019 संस्करण में पहली जगह पर स्थान दिया गया है। पुस्तक जॉर्डन स्थित रॉयल इस्लामी सामरिक अध्ययन केंद्र द्वारा सालाना तैयार की जाती है। तुर्की राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान आज की तारीख में विश्व के शक्तिशाली नेताओं में से एक हैं.

एर्दोगान अरब में सबसे प्रभावशाली नेता हैं, अपने साशनकाल में एर्दोगान ने तुर्की की जनता के लिए जो काम किये हैं उसकी वजह से वह तुर्की के हीरो बन चुके हैं, अरब जगत में चल रही उथल – पुथल को रोकने के लिए एर्दोगान ने सीधे सीधे सीरिया में ISIS के खिलाफ मोर्चा खोला और रूस, ईरान के साथ आतंकवाद की लड़ाईउ में बड़ी कामयाबी हासिल की है। क़तर पर सऊद अरब की पाबंदियों पर अर्दोग़ान खामोश नहीं रहे उन्होंने वहां तुर्की की सेना तैनात की और क़तर की मदद में खुल कर सामने आ खड़े हुए।

पुस्तक जॉर्डन स्थित रॉयल इस्लामी सामरिक अध्ययन केंद्र द्वारा सालाना तैयार नोट के हिसाब से एर्डोगान अगस्त 2014 में तुर्की के पहले लोकप्रिय निर्वाचित राष्ट्रपति बने और फिर 2018 के चुनाव में 52.5 प्रतिशत वोट के साथ दूसरा कार्यकाल हासिल किया। प्रकाशन में यह भी पाया गया कि तुर्की ने एर्डोगन के नियमों के दौरान “संवैधानिक सुधार और एक प्रमुख वैश्विक शक्ति के रूप में पुनर्जन्म” किया है।

एर्दोगान की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए, रिपोर्ट में कहा गया है कि एर्डोगन के नेतृत्व में, तुर्की ने अपने सभी सात भूमि-पड़ोसियों, विशेष रूप से ग्रीस और काले सागर के किनारे के सभी देशों के साथ मजबूत संबंध बनाने पर ध्यान केंद्रित किया है। ये भी कहा गया, “अफ्रीका में,  20 से अधिक नए दूतावासों और वाणिज्य दूतावासों को खोला है, और जब सोमालिया ने 2011 में अकाल और सूखे को झेला, तो एर्दोगान ने न केवल सहायता दी, बल्कि अफ्रीका के बाहर से दो दशकों में सोमालिया जाने के पहले नेता बने.”

पिछले वर्षों के संस्करणों में एरडोगन 2016 और 2017 में 8 वें स्थान पर थे, और पिछले वर्ष की किताबों के संस्करणों में 2018 में 5 वें स्थान पर थे, 201 9 में उन्होंने पहले स्थान पर रहा जबकि सऊदी राजा सलमान बिन अब्दुल-अज़ीज़ अल-सऊद सबसे प्रभावशाली मुस्लिम और जॉर्डनियन राजा अब्दुल्ला II इब्न अल हुसैन तीसरे स्थान पर रहे। किताब 2009 से जॉर्डन की राजधानी अम्मान में द रॉयल इस्लामिक स्ट्रैटेजिक स्टडीज सेंटर द्वारा सालाना प्रकाशित की गई है, और वर्ष 201 9 के लिए इसका 10 वां संस्करण इस महीने प्रकाशित हुआ था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *