BSP से दिग्गज मुस्लिम नेता का इस्तीफ़ा,कहा-मायावती…

February 27, 2019 by No Comments

लोक सभा चुनाव के चलते उत्तर प्रदेश में सपा बसपा गठबंधन पार्टी के कुछ नेताओं को पसंद नहीं आ रहा है।जहां समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव से यह फैसला लेने के लिए नाराज चल रही हैं।वहीं बसपा के नेताओं ने भी अब पार्टी सुप्रीमो के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।बता दें कि करीब डेढ़ साल तक बसपा में रहे शाजान मसूद ने अचानक पार्टी के खिलाफ बगावती सुर छोड़ दिए हैं।
हाल ही में उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बसपा पर गंभीर आरोप लगाए हैं।शाजान मसूद का कहना है कि पार्टी में सिर्फ अटैची वालों को ही टिकट दी जाती है।बता दें कि कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष इमरान मसूद के आवास पर आयोजित की गई इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में शाजान मसूद ने बताया कि नगर निगम सहारनपुर के चुनाव से पहले उन्हें बसपा नेता ही चुनाव लड़ाने की बात कह रहे थे।लेकिन मौके पर उन्होंने अटैची दिखाने वालों को उम्मीदवार बना दिया।

मायावती


शाजान मसूद का आरोप है कि अगर इस चुनाव में अटैची वाले उम्मीदवार को नहीं उतारा जाता तो भाजपा कभी भी नहीं जीत पाती।लोकसभा चुनाव में भी बसपा अटैची वाले लोगों को ही चुनाव लड़वा रही है।कांग्रेस नेता इमरान मसूद के अलावा बीजेपी को हराने में कोई भी प्रभावशाली नहीं है।उनका कहना है कि पार्टी टिकट जिसे भी दी उसका जनाधार मजबूत होना चाहिए।
अटैची वाले उम्मीदवारों को अगर प्रशासन फैक्ट्री बंद करने के लिए कह देगा तो वह मैदान छोड़कर निकल जाएंगे.माना जा रहा है कि शाजान मसूद भी कांग्रेस में शामिल होने का फैसला ले सकते हैं।क्योंकि उन्होंने यह साफ ऐलान कर दिया है कि अगर बसपा चाहती है तो मुझे पार्टी से बाहर निकाल सकती है।इससे पहले शाजान मसूद के भाई और कांग्रेस नेता इमरान मसूद ने भी सपा-बसपा गठबंधन पर निशाना साधा था।

इमरान मसूद


उनका कहना है कि सहारनपुर लोकसभा सीट पर सपा-बसपा गठबंधन का कोई वजूद नहीं रहा है।अब हमारा परिवार एक हो चुका है और चुनाव में किसी से मुकाबला नहीं है।इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी पर भी ह’मला बोला।उन्होंने कहा है कि मोदी सरकार ने देश को बर्बाद कर दिया है।हम इस बार मजबूती से एकसाथ लड़कर बीजेपी को हटाने का काम करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *