होली के ज़रिये क्या फिर साथ आयेंगे अखिलेश यादव और शिवपाल

March 2, 2018 by No Comments

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से शिवपाल यादव की बिलकुल नहीं बनती लेकिन रिश्ता ऐसा है कि दोनों एक दूसरे को पूरी तरह इग्नोर नहीं कर पाते. अखिलेश और शिवपाल के बीच में भतीजा-चाचा का रिश्ता है. शिवपाल यादव एक समय पार्टी में मुलायम सिंह यादव के बाद माने जाते थे लेकिन 2016 के ख़त्म होते होते अखिलेश ने पार्टी की बागडोर अपने हाथों में ले ली.

अखिलेश यादव ने शिवपाल गुट की एक ना चलने दी और ख़ुद ही पार्टी को संभालने लगे. इस सब में मुलायम सिंह ने पूरी कोशिश की कि उनके भाई और उनके बेटे कि बीच सम्बन्ध बेहतर हो जाएँ और पार्टी एक होकर चुनाव लड़े. सुलह समझौते की सभी कोशिशें बेकार ही रही हैं, ऐसे में ख़बरें ये भी आ रही हैं कि शिवपाल यादव कांग्रेस में जा सकते हैं.परन्तु होली के शुभअवसर पर परिवारिक फंक्शन में दोनों नेता मिले. शिवपाल यादव और अखिलेश की इस मुलाक़ात के कई मायने निकाले जा रहे हैं.

अखिलेश ने अपने चाचा के पाँव भी छुए और चाचा ने भी अपने भतीजे को आशीर्वाद दिया. मीडिया में अब अटकलबाज़ी शुरू हो गयी है कि क्या दोनों अब फिर पहले जैसे हो जायेंगे. क्या शिवपाल को अपने क़द के बराबर पार्टी में जगह मिलेगी? क्या अखिलेश यादव पुरानी बातें भूल कर शिवपाल के साथ मिलकर पार्टी को मज़बूत करेंगे? देखा जाए तो सवाल तो कई उठाये जा रहे हैं लेकिन अभी क्या होने वाला है किसी को ख़ास कुछ पता नहीं है.अखिलेश और शिवपाल साथ आते हैं तो ये समाजवादी पार्टी के लिए फ़ायदे वाला ही होगा. कुछ लोग ये भी मानते हैं कि शिवपाल गुट के कमज़ोर हो जाने से पार्टी में गुटबाज़ी ख़त्म हो गयी है जिसका फ़ायदा आने वाले चुनाव में पार्टी को मिलेगा.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *