चंडीगढ़: लंबे संघर्ष के बाद मजदूर एकता की हुई जीत : AICCTU

March 14, 2018 by No Comments

चंडीगढ़: पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज मेस एम्प्लाइज यूनियन ( ऐक्टू ) चंडीगढ़ की लंबे संघर्ष के बाद आज ऐतिहासिक जीत हुई है। पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्टल मेस वर्कर पिछले आठ सालों से अपने EPF के लिए ऐक्टू के साथ मिल कर संघर्ष कर रहे थे। जिसमें APFC ने 15 फरवरी को आर्डर कर पैक को 1 करोड़ 20 लाख रूपए वर्करों के खाते में जमा करवाने के निर्देश दिए थे। मामला यूं है है की 24 सालों से वर्कर अपने फंड की आस में बैठे थे जिसका 4 लाख रुपये के आसपास बनता है।

आर्डर हो जाने के बाद वर्करों को 20 दिन तक कोई रिस्पांस नही मिला तो वर्करों ने मीटिंग कर फैंसला किया कि पैक मैनेजमेंट अगर वर्करों के साथ वादा करके उसे पूरा नहीं करती है। जिसके चलते संघर्ष को और तेज कर दिया जायेगा।  परंतु मैनजमेंट तक हमारा मैसेज गया तो मैनजमेंट ने मीटिंग कर फैंसला लिया की इस मामले को और आगे ले जाने की बजाय इसी ही लेवल पर खत्म कर दिया जाये। और मनेजमेंट ने पूरा पैसा जमा कर वर्करों के साथ मीटिंग कर सभी वर्करों को बधाई दी।
सतीश कुमार प्रधान ने वर्करों को संबोधित करते हुए कहा कि यह हमारी एकता की जीत है और इसके लिए सभी वर्कर और आल इंडिया सेन्ट्रल कौंसिल ऑफ़ ट्रेड यूनियन ( AICCTU ) के प्रधान साथी कंवलजीत सिंह भी बधाई की पात्र है। जिनकी अगुवाई में हम लोग लगातार संघर्षरत रहे और जीत दर्ज की। इसके साथ यह भी तय किया कि मानसा पंजाब में 23 मार्च को इंक़लाब रैली में भी हिसा लेंगे , और सीपीआई एम एल लिबरेशन के होने बाले महाधिवेशन 23 से 28 मार्च के लिए भी सहयोग करेंगे। साथ ही वर्करों ने पैक मैनेजमेंट का भी धन्यवाद किया। मीटिंग में मुख्यतौर में साथी अनिल कुमार, अस्वनी कुमार, नासिर खान,राज कुमार, रवि, आदि शामिल हुए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *