चीन की सरकार का बेतुका फ़ैसला बढ़ाएगा कट्टरता

October 13, 2018 by No Comments

अक्सर ही खबरों में सुनने को मिलती हैं कि उइगर मुसलमान बहुल प्रदेश शिनजियांग में मुसलमानों पर सख्ती की घटनाएं हो रही हैं। और अब इस प्रांत में हलाल के खिलाफ अभियान शुरू किया गया है जिसे बन्द करने की मांग किया गया है। प्रशासन ने आदेश दिया है कि हलाल उत्पादों पर पूरी तरह से बैन लगाया जाए क्योंकि इससे समुदाय विशेष में धार्मिक कट्टरता बढ़ सकती है। इससे साम्प्रदायिकता बढ़ेगी जिससे देश को इससे नुकसान पहुंच सकता है इसलिए इस पर बैन लगना चाहिए।

आपको बता दें कि शिनजियांग की राजधानी उरुमाकी में पार्टी की तरफ से यह आदेश जारी किये गए आंकड़ों के अनुसार चीन में इस वक्त 1 करोड़ 20 लाख से अधिक मुसलमान (12 मिलियन) लोग रह रहे हैं। यहां सरकारी अधिकारियों के लिए जारी आदेश में कहा गया कि उत्पादों और हलाल प्रक्रिया पर सख्ती से रोक लगनी चाहिए इसपर सख्ती किया जाना चाहिए।

इसके साथ ही सरकारी अधिकारियों के लिए जारी आदेश में कहा गया है कि उन्हें जन-समुदाय के बीच वैचारिक प्रतिबद्धता मजबूत करने की दिशा में काम करना होगा। उनके बीच आपसी भाईचारा को बढ़ावा देना होगा।

दरअसल मुसलमानों के बीच नॉनवेज खाने के लिए हलाल पद्धति प्रयोग की जाती है। हलाल को इस्लामिक धार्मिक मान्यता के अनुसार माना जाता है इसमें इसे जायज करार दिया गया है। वहीँ सरकारी आदेश में कहा गया है कि पिछले कुछ वक़्त में हलाल उत्पादों के प्रयोग में वृद्धि आई है.

इससे धार्मिक कट्टरता बढ़ने की आशंका है साम्प्रदायिक तनाव ही बढ़ेंगे क्योंकि दूसरे समुदाय के लोगों में इसे पाप माना गया है तो इससे उनके आस्था का भी अपमान होगा। और आपको बता दें कि इससे पहले चीन में मुसलमानों के विचार परिवर्तन और उन्हें देशभक्त बनाने के लिए जबरन शैक्षिक कैंप भी भेजा जा रहा था उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा था।

हालांकि शिनजियांग में अल्पसंख्यक मुस्लिमों पर लगाई गई सरकारी पाबंदी कोई नई बात नहीं है। रमजान के दौरान नमाज पढ़नेवाली चटाई रखने की खबर भी अंतरराष्ट्रीय मीडिया में आ चुकी है।
वहीँ सरकारी आदेश में कहा गया है कि पिछले कुछ वक़्त में हलाल उत्पादों के प्रयोग में वृद्धि आई है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *