चित्रकूट की जीत से स्पष्ट है “मध्यप्रदेश भाजपा के कुशासन से मुक्ति चाहता है”: ज्योतिरादित्य सिंधिया

November 12, 2017 by No Comments

चित्रकूट: मध्यप्रदेश के चित्रकूट विधानसभा के लिए हुए उप-चुनाव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सारी कोशिशें फेल हो गई हैं। मध्य प्रदेश में चित्रकूट विधानसभा उपचुनाव के नतीजे आ गए हैं। कांग्रेस उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी ने बीजेपी के शकंर दयाल त्रिपाठी को 14,333 मतों से हरा दिया है। नीलांशु चतुर्वेदी को 668,10 और बीजेपी प्रत्याशी शंकर दयाल को 52,477 वोट मिले। वहीँ 2455 मतदाताओं ने नोटा का विकल्प चुना। इस उपचुनाव में 9 निर्दलीय सहित 12 उम्मीदवार मैदान में थे।
नतीजे सामने आने के बाद प्रदेश भाजपा समेत पार्टी के आलाकमान को भी जबरदस्त झटका लगा है। इस विधानसभा सीट पर 9 नवंबर को चुनाव हुए थे। यहां करीब 65 फीसदी वोटिंग हुई थी। चित्रकूट विधानसभा सीट विधायक प्रेम सिंह के निधन से खाली हुई थी। आपको बता दें की कांग्रेस विधायक प्रेम सिंह का इस साल 29 मई को निधन हो गया था।

इस चुनाव के नतीजे राज्य के सीएम शिवराज सिंह चौहान के लिए यह बड़ा झटका होने के साथ उन्हें सन्देश दे रहे हैं कि उनके लिए आगे की राह इतनी आसान नजर नहीं आ रही है। गौरतलब है कि इस सीट पर मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच ही था। जिसपर चुनाव जीतने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने खुद काफी मेहनत की थी।
शिवराज ने चित्रकूट विधानसभा के तुर्रा गांव में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चुनाव प्रचार के दौरान आदिवासियों से मुलाक़ात कर उनके घर पर भोजन भी किया था और उन्हीं के घर पर रात्रि विश्राम किया था। बीजेपी हर कीमत पर इस सीट पर जीत चाहती थी लेकिन चुनाव परिणाम बीजेपी के लिए निराशाजनक साबित हुआ।
कांग्रेस की इस जीत पर कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी की जीत पर जनता का आभार जताया है। उन्होंने सोशल मीडिया अकाउंट ट्विटर पर लिखा, “चित्रकूट की जनता का आभार, कांग्रेस प्रत्याशी और कार्यकर्ताओं को बधाई!”
वहीँ दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि अटेर के बाद अब चित्रकूट की जीत से स्पष्ट है कि मध्यप्रदेश अब भाजपा के कुशासन से मुक्ति चाहता है।

सिंधिया के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूज़र ने लिखा है, “ना भाजपा,ना शिवराज,अब की बार सिर्फ महाराज। जय हो।”

एक अन्य यूजर ने लिखा है, “अटेर के बाद अब चित्रकूट की जीत से स्पष्ट है कि #मध्यप्रदेश अब भाजपा के कुशासन से मुक्ति चाहता है।”

वहीँ एक का कहना है, “बीजेपी का ‘अहंकार’, ‘गलत नीति’ ही है जो हर जगह से पत्ता साफ हो रहा है, चित्रकूट हुई ‘कांग्रेस’ के नाम !!”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *