CM ममता बनर्जी ने तृणमूल सांसद सुल्तान अहमद की मौत के लिए CBI को ठहराया जिम्मेदार

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुलतान अहमद की मौत को लेकर सीबीआई पर गंभीर आरोप लगाए हैं।
टीएमसी अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कहना है कि “सीबीआई की वजह से सुल्तान अहमद की मौत हुई है क्योंकि नारद स्टिंग मामले को लेकर जांच एजेंसी की तरफ से उन पर दबाव डाला जा रहा था। नारद मामला केवल एक या डेढ़ लाख रुपये की राशि से संबंधित है। नारद स्टिंग ऑपरेशन के संबंध में सीबीआई और ई डी ने सुल्तान अहमद से पूछताछ की थी

सीबीआई की पूछताछ के बाद वह तनाव में थे। कुछ रुपयों के लिए सीबीआई ने उनपर इस तरह से दबाव डाला की वे चिंता में पड़ गए। उन्हें इसी कारण हार्ट अटैक हुआ है। वैसे तो उनकी अभी इतनी उम्र भी नहीं थी और न ही उन्हें कोई बीमारी थी कि उनकी मौत हो जाये। बस वह सीबीआई के इस दबाव को सहन नहीं कर पाए। इससे बिफरी ममता ने सीबीआई पर कटाक्ष किया।

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने सुना है कि सीबीआई ने उन्हें मौत होने के बाद एक पत्र भेजा है।

ममता बनर्जी ने ट्विटर पर ट्वीट किया था कि “सुल्तान अहमद के निधन से बेहद दुखी और स्तब्ध हूं जो तृणमूल कांग्रेस के मौजूदा सांसद और लम्बे समय से मेरे सहयोगी थे। उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं।”
आपको बता दें कि सोमवार को सुल्तान अहमद का हार्ट अटैक से निधन हो गया। उन्हें अपने आवास पर सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
अहमद के परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटे हैं। सुल्‍तान अहमद तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर उलूबेरिया लोकसभा सीट से निर्वाचित हुए थे। वह मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली संप्रग सरकार में केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री और दो बार पश्चिम बंगाल विधानसभा के सदस्य भी रहे थे।

ये सब इतनी जल्दी हुआ की जो भी यह खबर सुन रहा था उसे यकीन नहीं हो रहा था कि सुल्तान अहमद अब उनके बीच नहीं रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.