हार्दिक पटेल का दावा-‘मोदी सरकार के ख़िलाफ़ आम जनता लड़ेगी चुनाव’

October 28, 2018 by No Comments

2019 के लोकसभा चुनाव में केंद्र की बीजेपी सरकार को घेरने के लिए विपक्षी दलों ने रणनीतिक तैयारी तेज कर दी है। खास तौर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को लेकर विपक्ष खास चक्रव्यूह रचने की तैयारी कर रहा है। यही वजह है कि इस बार विपक्ष की कोशिश पीएम मोदी के खिलाफ ऐसा उम्मीदवार उतारने की जिससे लड़ाई और तगड़ी बन सके। जिसको लेकर गुजरात से पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने विपक्षी दलों को नसीहत देते हुए कहा है कि अगर पूरे देश की क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टियां एकजुट नहीं हूईं तो 2019 के बाद कोई भी चुनाव नहीं होगा.

उत्तर प्रदेश में विपक्ष के महागठबंधन बनने की संभावनाओं के बीच माना ये भी जा रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ वाराणसी से इस बार विपक्ष का एक ही साझा उम्मीदवार उतारा जाए। हार्दिक पटेल ने कि 2019 के लोकसभा चुनाव मोदी और किसानों के बीच लड़ा जाएगा. पटेल ने कहा- ‘2019 के चुनावों में मोदी सरकार के खिलाफ लोग ही लड़ेंगे. और मैं सड़कों पर उतरकर उनका साथ दूंगा. मेरा काम लोगों को जागरुक करना है, किसी राजनीतिक पार्टी का समर्थन करना नहीं.’

हार्दिक ने अपने एक ट्वीट में कहा कि ‘लोकतंत्र को मज़बूत करने वाली सरकारी स्वतंत्र संस्थाओं का नैतिक पतन सिद्धांतहीन राजनीत का स्वाभाविक दुष्परिणाम हैं।लोकतंत्र को ख़त्म करने वाली राष्ट्रविरोधी ताक़तें देश के संविधान को नहीं हरा सकती.देश का संविधान किसी महाग्रंथ से कम नहीं हैं।संविधान की मूल आत्मा ही देश का अभिमान है’.

आपको बता दे पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल ने हाल ही में पाटीदार आरक्षण, किसानों की कर्ज माफी समेत कई मुद्दों को लेकर आमरण अनशन किया। उनका अनशन 25 अगस्त से शुरू हुआ जो कि 19वें दिन 12 सितम्बर 2018 को खत्म हुआ। इस दौरान उनकी तबीयत भी बिगड़ी लेकिन वो पीछे हटने को तैयार नहीं थे। हालांकि बाद में वरिष्ठ पाटीदार नेताओं और सहयोगियों के आग्रह पर उन्होंने अपना उपवास खत्म कर दिया। हार्दिक पटेल जिस तरह से पटेल समुदाय को लेकर अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं इसी का असर है कि उन्हें पाटीदारों का समर्थन मिल रहा है और ये दिनों दिन बढ़ता जा रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *